आने वाले का बोलबाला जाने वाले का मुह काला…

दमन : केंद्र शासित प्रदेश दमन मे आज प्रशासक आवास पर विक्रम देव दत्त का भव्य स्वागत किया गया. सभी जन प्रतिनिधिओ एव राजनैतिक पार्टीओ के अग्रणीओ ने नए प्रशासक का स्वागत किया |
हर नए प्रशासक का दमन मे आने पर भव्य स्वागत और जाते समय भव्य विदाई का राजनैतिक रिवाज है  दमन दिउ दादरा नगर हवेली मे पिछले काफी समय से देखा जारहाहै की ब्रहस्पति एक राशि मे 13 महीनो तक रुकते है राहू 18 महीनो मे राशि बदलते है और शनि महाराज ही 30 महीनो तक एक राशि मे रहते है इसी तर्ज पर संघ परदेशो मे प्रशासक के रुकने की अवधि तय की जाती नजर आती है राहू, शनि की भांति टिकने और बदलने के साथ साथ इनके कार्य कल में हूए कार्यो की शमीक्षा करने का शायद कोई प्रावधान नहीं है दिल्ली से जैसे कहा जाता है की “लूट कर लाओ बाँट कर खाओ” यदि कोई सूत्र का अर्थघटन अपने तरीके से करता है तो वह राहू काल में ही विदा हो जाता है शनि महाराज के काल तक तो मूस्तेदी से कम करने वाला ही ठ्हरता है|
आने के साथ ही नए प्रशासक महोदय ने प्रधान मंत्री जी के विकास मंत्र का अनुस्टआन का आरंभ करने की खोखली घोषणा कर दी शायद वे कुछ करने से अधिक उन् से जो करवाया जाएगा उसपर अधिक ध्यान देंगे तभी शनि काल को पूरा कर के अपने कार्य काल को पूरा कर पाएंगे गौरतलब है की पहले केंद्र शासित प्रदेश में प्रशासक को ही आई जी के रूप में काम करना होता था लेकिन कुछ महानुभावों के कार्य प्रकाश के बाद में प्रशासक के पास से आई जी का अतिरिक्त भार छिन लियागया अब लगता है की धीरे धीरे प्रशासक की कार्य अवधि भी अनिश्चित कर दी जाएगी |