3 साल के लिए कोई भी हो सकता है इंडियन आर्मी में भर्ती

0
7
नई दिल्ली। अमेरिका और इजरायल की तरह भारत सरकार भी सेना में भर्ती के लिए क्रांतिकारी कदम उठाने जा रही है। अब इंडियन में कोई भी आम आदमी भी भर्ती हो सकता है। खास बात यह कि ट्रेनिंग आर्मी के नियम कायदे और कानूनों के तहत होगी, लेकिन सेना में शामिल होने वाला शख्स अगर चाहेगा तो कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के बाद पूर्णकालिक कमीशन भी प्राप्त कर सकेगा। भारत सरकार ने इस शार्ट सर्विस कमीशन को ‘टूअर ऑफ ड्यूटी’ दिया है। सेना का मकसद भारत के बेस्ट टेलेंट को सेना से जोड़ने का है। इंडियन आर्मी में यह क्रांतिकारी कदम सीडीएस विपिन चंद रावत की पहल पर उठाया जा रहा है। ऐसा भी कहा जा रहा है कि जंग के हालात में पाकिस्तान और चीन को एक साथ मात देने के लिए भारतीय सेना तैयारी शुरू कर दी है। यह कदम भी उन्हीं तैयारियों का हिस्सा है।

अधिकृत जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना आम नागरिकों को भी सेना की ड्यूटी करने का मौका दे सकती है। सेना आम भारतीयों के लिए तीन साल की ‘टूअर ऑफ ड्यूटी’ के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। अगर यह प्रस्ताव मंजूर हो गया तो यह देश के इतिहास का एक बड़ा क्रांतिकारी कदम होगा।

आर्मी के सूत्रों ने बताया, ‘एक प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है जिसके तहत आम नागरिकों को भी देश की सेवा के लिए फोर्स जॉइन कर तीन साल की टूअर ऑफ ड्यूटी का मौका मिल सकेगा।’ प्रस्ताव के बारे में छानबीन करने पर आर्मी के प्रवक्ता ने भी इसकी पुष्टि की।

भारतीय सेना देश के बेस्ट टैलंट को अपनी कुनबे में शामिल करना चाहती है। इस प्रस्ताव से सेना का यह मकसद हासिल करने में आसानी होगी। मौजूदा वक्त में शॉर्ट सर्विस कमिशन के जरिए सेना जॉइन करने वालों को कम-से-कम 10 वर्ष की नौकरी करनी होती है। सेना में इससे कम अवधि की ड्यूटी का प्रावधान अभी नहीं है।

इंडियन आर्मी के शीर्ष अधिकारी शॉर्ट सर्विस कमिशन के प्रावधानों की भी समीक्षा कर रहे हैं ताकि इसे युवाओं के लिए ज्यादा आकर्षक बनाया जा सके। भारतीय सेना को सालों से अधिकारियों की कमी हो रही है और इसलिए कमिशन में बदलाव का काम जल्द-से-जल्द करने का इरादा है। शॉर्ट सर्विस कमिशन की शुरुआत न्यूनतम 5 वर्षों की सर्विस के साथ हुआ था, लेकिन इसे ज्यादा आकर्षक बनाने के लिए बढ़ाकर 10 साल कर दिया गया था।