एक बार फिर टला बड़ा हादसा, गत्तों के गोदाम में लगी आग पर कड़ी मशक्कत के बाद पाया काबू, पास में था पेट्रोल पंप और कबाड़खाना, अफरातफरी मची

17

जोधपुर। भदवासिया फू्रट मंडी के द्वितीय गेट के पास एक बार फिर बड़ा हादसा होते रह गया। यहां शुक्रवार रात को पेट्रोल पम्प के पीछे गत्तों के गोदाम में भीषण आग लग गई। पास में पेट्रोल पम्प होने के कारण अफरा-तफरी मच गई। दमकलकर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद शनिवार अलसुबह इस आग पर काबू पाया। आसपास यहां कबाडख़ाना भी है। अगर आग पेट्रोल पंप और कबाडख़ाना तक पहुंच जाती तो आवासीय कॉलोनी होने के कारण यहां बड़ा हादसा हो सकता था।

दरअसल भदवासिया फू्रट मंडी के द्वितीय गेट के पास पेट्रोल पंप और कबाड़खाना आसपास होने के कारण हमेशा से ही आगजनी का बड़ा खतरा मंडराता रहता है। यहां कई बार आग लगने के बाद अफरातफरी का माहौल हो चुका है। शुक्रवार रात करीब सवा एक बजे यहां फिर से आग लग गई। इस बार पेट्रोल पम्प के पास गत्तों के गोदाम में आग लगी। आग लगते ही यहां अफरातफरी का माहौल हो गया। आग के पेट्रोल पम्प व मकानों तक पहुंचने की आशंका के चलते पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया। सूचना मिलने पर पुलिस व नागौरी गेट अग्निशमन केंद्र से दमकल वाहनें वहां पहुंची। पुलिस ने सुझबूझ दिखाते हुए आग के पास के क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति बंद करवा दी क्योंकि यहां पास से विद्युत लाइन गुजर रही थी, लाइन के आग की चपेट में आने की आशंका बढ़ गई थी।

दूर तक दिखाई दी लपटें

गोदाम में गत्तों और रद्दी होने के कारण कुछ ही देर में आग ने विकराल रूप ले लिया। आग की लपेटेें काफी ऊंचाई तक पहुंच रही थी और यह काफी दूर से दिखाई दे रही थी। तेज साइरन की आवाज के साथ दौड़ती दमकलों से पूरे क्षेत्र में अफरातफरी का माहौल बन गया। जो लोग गहरी नींद में सो चुके थे, उनकी भी नींद उड़ गई। वे सभी घटनास्थल के पास पहुंच गए।

दो घंटे लगे आग बुझाने में

इस आग को बुझाने में दमकलकर्मियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। करीब दो घंटे तक पांच दमकलों ने पानी का छिडक़ाव कर आग पर काबू पाया। इसके बाद भी सुबह तक गत्तों की राख से रह-रहकर चिंगारियां भडक़ रही थी। एेहितयात के तौर पर यहां सुबह तक एक दमकल वाहन को खड़ा रखा गया।