एलजी अनिल बैजल और केजरीवाल में अब इस बात को लेकर ठनी!

12

वरुण सिन्‍हा, नई दिल्‍ली: दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और एलजी अनिल बैजल में एक बार फिर ठन गई है। दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद ने एलजी अनिल बैजल के आदेश का पुरजोर विरोध किया।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आदेश दिया है कि अब दिल्ली में कोई भी कोरोना पॉजिटिव होगा तो उसको कम से कम 5 दिन क्वारन्टीन सेंटर में जाना अनिवार्य होगा। इसको लेकर सीएम अरविंद ने अहसमति जताई है।

केजरीवाल ने कहा

  1. जब आईसीएमआर पूरे देश में बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों को होम आइसोलेशन की इजाज़त देता है तो दिल्ली में अलग नियम क्यों?
  2. ज्यादातर कोरोना पॉजिटिव मरीज हल्के लक्षण/बिना लक्षण वाले ही होते हैं इनको कोरेंटिन करने के लिए व्यवस्था कहाँ से करेंगे?
  3. रेलवे ने आइसोलेशन कोच दिए हैं, लेकिन उसके अंदर इतनी गर्मी में कोई कैसे रहेगा?
  4. हमारी प्राथमिकता गंभीर मरीजों के लिए होनी चाहिए या बिना लक्षण और हल्के लक्षण वालों के लिए?
  5. मेडिकल स्टाफ़ की पहले ही कमी है, अब हज़ारों मरीजों के लिए क्वारन्टीन सेन्टर पर डॉक्टर नर्स कहाँ से आएंगी?
  6. क्वारंटाइन होने के डर से अब हल्के लक्षण और बिना लक्षण वाले लोग टेस्ट कराने से बचेंगे, इससे संक्रमण और फैलेगा।
  7. इस से दिल्ली में अफ़रा-तफ़री मच जाएगी और पूरी व्यवस्था बिगड़ जाएगी।
  8. पूरी दुनिया में ऐसा कहीं नहीं किया गया कि बिना लक्षण वाले मरीज़ों को कोई सरकार क्वॉरंटीन सेंटर में लेकर आए।

इससे पहले भी दिल्‍ली के अस्‍पतालों को लेकर एलजी और केजरीवाल आमने-सामने आ चुके हैं। केजरीवाल ने दिल्‍ली के अस्‍पतालों में सिर्फ दिल्‍ली के लागों का इलाज करने की बात कही थी, लेकिन एलजी ने उस आदेश को पलटते हुए सभी के इलाज के लिए अस्‍पतालों को निर्देश जारी किए थे।