क्या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सिर्फ कांग्रेस की है: केंद्रीय जलशक्ति मंत्री शेखावत का कांग्रेस पर तीखा हमला

जोधपुर। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कांग्रेस पार्टी पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति को रौंदने की समृद्ध परंपरा को जारी रखते हुए कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों द्वारा अर्णब गोस्वामी को धमकाने और डराने की हरकतें निंदनीय हैं। इसकी जितनी भत्र्सना की जाए कम है।

अपने बयान में शेखावत ने कहा कि संवैधानिक मापदंड कांग्रेस के लिए कोई मायने नहीं रखते। इनके देश, धर्म और दुनिया के मूल सिद्धांत चाटुकारिता से शुरू होकर वहीं पर समाप्त हो जाते हैं। किसी पत्रकार को अपनी बात रखने के लिए उसके प्रति हिंसात्मक हो जाना एक परिवार पार्टी की कुंठित मानसिकता को उजागर कर रहा है। उन्होंने कहा कि जब पालघर में संतों की निर्मम हत्या पर कांग्रेस की इच्छाधारी चुप्पी, उनकी सांप्रदायिक और तुष्टीकरण की राजनीति पर सवाल करोगे तो आप पर हमला भी हो सकता है। एक परिवार पार्टी की विचारधारा सहूलियत के अनुसार संप्रदायों और वर्गों में विवाद पैदा करना है। शेखावत ने सवाल किया कि क्या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सिफऱ् कांग्रेस की है? वह गरीब का उपहास उड़ा सकते हैं, प्रधानमंत्री को गाली दे सकते हैं, जनता से झूठ बोल सकते है, देश को गुमराह कर सकते हैं और संविधान की मर्यादा भंग कर सकते हैं, लेकिन अगर कोई सवाल करेंगे तो आप के साथ हिंसा होगी।