खालिस्तानी एजेंडे को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं दिलजीत दोसांझ और जैजी बी: रवनीत सिंह बिट्टू

4
29
खालिस्तानी एजेंडे को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं दिलजीत दोसांझ और जैजी बी: रवनीत सिंह बिट्टू - राष्ट्रीय

विशाल एंग्रीश, चंडीगढ़: पंजाब के लुधियाना से कांग्रेस सांसद और आतंकवाद का शिकार हुए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते रवनीत सिंह बिट्टू ने अपने फेसबुक पेज के जरिए पंजाब के दो नामी सिंगरों दिलजीत दोसांझ और जैजी बी को चेतावनी जारी की है। उन्‍होंने इन दोनों पर आरोप लगाया है कि ये दोनों अपने गीतों के माध्यम से खालिस्तानी एजेंडे को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे पंजाब के लोग बर्दाश्त नहीं करेंगे।

बिट्टू ने पंजाबी प्रसिद्ध गायक और अदाकार दिलजीत दोसांझ और जैजी बी पर निशाने साधते हुए कहा कि दिलजीत और जैजी बी खालिस्तान समर्थक संगठनों का खुल कर समर्थन कर रहे हैं। पहले ही देश विरोधी ताकतों को हवा देकर माहौल खराब हो रहा है। उन्होंने दोनों गायकों को काफी खरी-खोटी सुनाते कहा कि “यदि आपको पंजाब के लोग बुलंदियों पर पहुंचा सकते हैं तो जेल की हवा भी खिला सकते हैं। आप लोग पंजाब का खाकर अब देश और पंजाब के खिलाफ गद्दारी कर रहे हो। क्यों आप पंजाब के नौजवानों के खून के प्यासे हो गए? हमारे बच्चों को हथियार उठाने को कह रहे हो? आपकी ये गलतियां बर्दाशत नहीं की जाएंगी।’

इसके अलावा रवनीत बिट्टू ने दिलजीत दोसांझ और जैजी बी को चेतावनी देते कहा कि यदि आपने पंजाब आना है तो कुछ सोच विचार करके आना। जब आप पंजाब/भारत आए तब इस मुद्दे पर खुल कर बात की जाएगी। हमारी नौजवान पीढ़ी देश के साथ है। रवनीत बिट्टू ने पंजाब कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वो पंजाब के पुलिस थानों में इन दोनों ही गायकों के खिलाफ देशद्रोह की शिकायत दें ताकि इस तरह से ये सिंगर भारत में नाम कमाने के बाद भारत के साथ गद्दारी करने की कोशिश ना कर सकें।

दरअसल रवनीत बिट्टू जिन दो गीतों को लेकर आपत्ति दर्ज करवा रहे हैं उसमें दिलजीत दोसांझ का गीत तो साल 2014 में उनकी फिल्म 1984-पंजाब का गीत है, जिसमें उन्होंने दिखाया है कि किस तरह के हालात में पंजाब के युवाओं को ब्लूस्टार ऑपरेशन के बाद आतंकी बनना पड़ा था। इस पूरे मामले पर दिलजीत दोसांझ ने भी अपने फेसबुक पेज पर वीडियो जारी करके सफाई दी है कि जिस फिल्म के गीत को रवनीत सिंह बिट्टू देशद्रोही गीत बता रहे हैं वो गीत साल 2014 का है और जब ये फिल्म आई थी तब फिल्म के हर गीत को और दृश्य को भारत के फिल्म सेंसर बोर्ड की ओर से हरी झंडी दी गई थी। इस फिल्म को नेशनल अवार्ड के लिए भी चुना गया था। अगर इसमें ऐसी कोई आपत्तिजनक बात होती तो सेंसर बोर्ड इसे क्लीयरेंस क्यों देता और इस फिल्म को नेशनल अवार्ड के लिए क्यों चुना जाता। दिलजीत दोसांज ने कहा कि रवनीत सिंह बिट्टू एक बार फिर से उनकी फिल्म और गीत को देखें और समझें कि उन्होंने देश के खिलाफ कुछ भी नहीं किया है, बेवजह उनका नाम इस पूरी कॉन्ट्रोवर्सी से जोड़ा जा रहा है।

कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्टू द्वारा गायकों दिलजीत दोसांझ और जैजी बी के ऊपर अपने गीतों के माध्यम से खालिस्तानी एजेंडे को बढ़ावा देने के लगाए गए आरोप पर पंजाब सरकार के प्रवक्ता राजकुमार वेरका ने कहा कि जो आरोप कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने लगाए हैं, उसपर पंजाब सरकार जांच कर रही है। किसी भी गायक को इस तरह से देश को तोड़ने वाली बातों का इस्तेमाल अपने गीतों के माध्यम से करने नहीं दिया जाएगा। गायक भी ये देखें कि जिस देश और पंजाब ने उन्हें नाम, पैसा और शोहरत दी है, वो उसके खिलाफ किसी भी तरह की इस तरह की बात का इस्तेमाल अपने गीतों में ना करें।

वहीं अकाली दल के प्रवक्ता परमबंस सिंह बंटी रोमाना ने इस मामले पर कहा कि कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू गायकों को किसी भी तरह की नसीहत देने से पहले जरा अपने परिवार के बैकग्राउंड को याद रखें। उनके दादा और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के ऊपर आतंकवाद के दौर में कई नौजवानों के फर्जी एनकाउंटर और कत्लेआम करवाने के आरोप लगे थे। ऐसे परिवार से जुड़े लोग किसी दूसरे को नसीहत ना ही दें तो बेहतर है।

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here