गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में पश्चिम क्षेत्रीय परिषद की बैठक कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर हुई चर्चा

गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में पश्चिम क्षेत्रीय परिषद की बैठक कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर हुई चर्चा | Kranti Bhaskar

दमण. 26 अप्रैल को गांधीनगर में पश्चिम क्षेत्रीय परिषद की 23 वीं बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने की। इस बैठक की उपाध्यक्षता एवं मेजबानी गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने की। बैठक में महाराष्ट्र एवं गुजरात के मुख्यमंत्रियों के साथ संघ प्रदेश दमण दीव व दानह के प्रशासक प्रफुल पटेल मुख्य रुप से उपस्थित थे।  बैठक में चर्चा के दौरान निर्णय लिया गया कि संवैधानिक संस्थानों की गरिमा बनाए रखना सभी राजनैतिक पार्टियों और संगठनों की जिम्मेदारी है। आम लोगों के विश्वास को बनाए रखने और बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाने चाहिए। हर हाल में जन हितैषी योजनाओं को लागू किया जाना चाहिए। समाज का एक भी व्यक्ति सरकारी योजनाओं के लाभ से अछूता नहीं रहे। देश की एकता एवं अखंडता के लिए प्रतिबद्ध होना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। पश्चिम क्षेत्रीय परिषद के इस बैठक में पश्चिम क्षेत्र से जुड़़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में सर्वप्रथम 22 वीं बैठक में लिए गए निर्णयों की प्रगति रिपोर्ट की समीक्षा की गई। इसमें तटीय सुरक्षा, इंटरनेट सुरक्षा, मछुआरों को पहचान पत्र जारी करने एवं बायो मैट्रिक जारी करने तथा आतंकवाद से निपटने के लिए किए गए उपायों की समीक्षा शामिल है। साथ ही वर्ष 2022 तक सभी के लिए आवास संबंधी विषय पर भी समीक्षात्मक चर्चा की गई। समीक्षात्मक चर्चा के उपरांत परिषद में कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा की जिसमें स्त्री सुरक्षा और महिलाओं के प्रति होने वाले जघन्य कृत्यों को रोकने के लिए किए जाने वाले उपायों पर चर्चा हुई। पुन: तटीय सुरक्षा जैसे गंभीर विषयों पर भी राज्यों और संघ प्रदेशों की राय ली गई। राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े हुए मुद्दों के साथ साथ पश्चिम क्षेत्र के विकास से संबंधित मुद्दों पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा हुई।