घोघला में डेप्यूटी कलेक्टर ने बंद कराया गरबा, आयोजकों ने कलेक्टर से की फरियाद 

घोघला में डेप्यूटी कलेक्टर ने बंद कराया गरबा, आयोजकों ने कलेक्टर से की फरियाद  | Kranti Bhaskar
diu garba news
संघ प्रदेश दीव के काफी विस्तारों में गरबा का आयोजन किया जाता है. सभी गरबा में श्रद्धालुओं उत्साह से भाग लेकर अंबे मां के गरबा खेलते है. कोई गरबा को दस से पंद्रह वर्ष एवं कोई गरबा पोर्टुगीज समय से गरबा खेले जाने के बावजूद आज दिन तक दीव में कभी नवरात्रि के दौरान कोई भी छोटी सी भी फरियाद दर्ज नहीं हुई है. जो एक रिकॉर्ड है एवं जिससे दीव की प्रजा शांतिप्रिय है यह साबित होता है.
दीव में नवरात्रि अच्छी तरह से मनाया जाये इसके लिए नवरात्रि से दो दिन पहले ही एसपी कार्यालय में डीवाईएसपी विपुल अनेकांत ने आयोजकों की मीटिंग की एवं नवरात्रि में सुरक्षा, सुविधा, ट्रैफिक का ध्यान रखने जैसी बातों को ध्यान में रखने को कहा था. जिससे दीव जिला के नवरात्रि के आयोजकों ने सुंदर आयोजन किया है.
नवरात्रि के पांचवें दिन सोमवार रात को दीव पुलिस को प्रथम सरकारी क्वार्टस जो पुरानी सरकारी हॉस्पिटल के पास है, उन्हें कोई फरियाद किया है इस बहाने गरबा को बंद कराया और इसके बाद खारवा समाज दीव द्वारा संचालित वेज मार्केट में होने वाले गरबा को भी बंद कराया गया एवं घोघला गांव में सिद्धिविनायक सोश्यल ग्रुप द्वारा आयोजित स्कूल के ग्राउंड में हो रहे गरबा को रात्रि के एक बजे डेप्यूटी कलेक्टर डॉ. अपूर्व शर्मा ने नाइट ड्रेस में जाकर गरबा बंद कराया.
इस घटना को लेकर मंगलवार को गरबा बंद कराने के कारण प्रशासन के सामने रोष दर्शाने ताकीद बैठक हुई एवं इस बारे में दीव कलेक्टर हेमंत कुमार को रूबरू रजुआत किया गया कि गत रात्रि को कुछ स्थलों पर पुलिस ने गरबा बंद कराया एवं डेप्यूटी कलेक्टर द्वारा घोघला में गरबा बंद कराया गया. हम शांति से गरबा खेलते है. दीव जिला में भाईचारा एवं एकता है. कभी कोई छेड़ती की घटना नहीं बना है. डेप्यूटी कलेक्टर का व्यवहार गरबा स्थल पर अशोभनीय रहा, आयोजकों को कहने के बदले स्टेज के पास चलकर बंद करायें जो शोभा नहीं देती. जिससे इस बारे में डेप्यूटी कलेक्टर पर कार्यवाही की जाये. नहीं तो दीव जिला में आज से गरबा बंद करेंगे और इस बारे में हम उच्च स्तर पर भी रजुआत करेंगे एवं साथ ही उनकी तबादले की भी मांग करेंगे.
कलेक्टर हेमंत कुमार ने सभी की बातों को सुना एवं कहा कि सुप्रीम कोर्ट के गाइडलाइन के तहत हमें काम करना होता है. लाउडस्पीकर बंद रखकर देर तक आप गरबा खेल सकते है, कोई फरियादी फरियाद करें तो ही प्रशासन कार्यवाही करता है. इसके बाद भी डेप्यूटी कलेक्टर डॉ. अपूर्व शर्मा के अशोभनीय व्यवहार के बदले खेद जताया. आयोजकों को गरबा चालू रखने एवं प्रशासन आपके साथ है ऐसा आश्वासन दिया. अंत में आयोजकों ने कलेक्टर हेमंत कुमार का आभार माना. इस बैठक में सीईओ राकेश कुमार, डीवाईएसपी विपुल अनेकांत, नगरपालिका अध्यक्ष हितेश सोलंकी, उपप्रमुख मनसुख करशन, काउंसलरों, समाज के पटेलों, आयोजकों उपस्थित रहें.