चार दिवसीय दौरे पर दीव पहुंचे प्रशासक प्रफुल पटेल, विभिन्न विकासीय कार्यों का लिया जायजा  

चार दिवसीय दौरे पर दीव पहुंचे प्रशासक प्रफुल पटेल, विभिन्न विकासीय कार्यों का लिया जायजा   | Kranti Bhaskar
संघ प्रदेश दमण-दीव तथा दानह के प्रशासक प्रफुल पटेल अपने चार दिवसीय दौरे पर मंगलवार दोपहर में दीव पहुंचे. प्रशासक के दीव पहुंचने पर एयरपोर्ट पर दीव जिला समाहर्ता पी.एस. जानी, उपसमाहर्ता डॉ. अपूर्व शर्मा एवं प्रशासन के अन्य अधिकारियों ने उनकी आगवानी की. जालंधर सर्किट हाउस पर उन्हें गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया और प्रशासन के तमाम आला अधिकारियों एवं गणमान्य नागरिकों ने प्रशासक का अभिवादन किया. इसके बाद शाम करीब 4 बजे प्रशासक ने दीव में विकासकीय कार्यों का जायजा लिया. प्रशासक ने अपनी दीव यात्रा के पहले चरण में दीव के कृषि फर्म गये. जहां पर उन्होंने कृषि विभाग द्वारा उपजाये जा रहे वनस्पतियों एवं वृक्षों तथा विभिन्न प्रजातियों के बारे में जानकारी ली. उन्होंने सहायक कृषि अधिकारी को कृषि फर्म के आसपास की जमीनों को और अधिक विकसित करने का निर्देश दिया. किसानों को विभिन्न स्कीमों के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायताओं के बारे में भी जानकारी हासिल की. प्रशासक ने यहां की जलवायु और मिट्टी के अनुरूप खेती करने और पौधा लगाने हेतु किसानों को डेमो दिखाने का आदेश दिया. किसानों को सरकारी स्कीमों का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त हो इसके लिए समय-समय पर स्कीमों के विषय में जानकारी दी जाए और कार्यक्रम आयोजित किया जाये. यहां पर टीशू क्लचर के विकास पर भी जोर देने की बात कही. इसके लिए दमण स्थित कृषि विशेषज्ञों को बुलाने और उनकी राय लेने का भी निर्देश दिया.
इसके बाद प्रशासक ने वन विभाग की दगाची सर्किट का दौरा किया. जहां उन्होंने विकास कार्यों को देखकर संतोष जाहिर की. लेकिन अभी भी बहुत काम किए जाने पर जोर देते हुए वन परिक्षेत्र अधिकारी को निर्देश दिया कि इस जगह पर नर्सरी का विकास करें और पर्यटक अधिक से अधिक आकर्षित हों इसे ध्यान में रखते हुए विकास करें. इसके लिए विशेषज्ञों तथा दमण स्थित वन अधिकारियों को बुलाया जाए और उनकी राय ली जाए.  दगाची वन सर्किट में लगे पेड़ों पर नम्बरिंग करने तथा मिट्टी के अनुरूप किस-किस प्रकार के वृक्ष उगाए जा सकते हैं उस पर विशेषज्ञों की राय लेने और अधिक पेड़ लगाने के भी निर्देश दिए. जहां-तहां फैली गंदगियों की सफाई पर भी जोर दिया. प्रशासक ने कहा कि वन विभाग द्वारा लगाए गए फेंसिंग को मजबूत किया जाए जिससे कि नीलगायें वन क्षेत्र से बाहर न जाए और किसानों की खेती तथा जान-माल का नुकसान न हो. इसके उपरांत प्रशासक प्रफुल पटेल खोड़ीधार बीच गये और वहां विकासकीय कार्यो का जायजा लिया. इस बीच पर और अधिक विकास की संभावनाओं पर प्रशासन के अधिकारियों से चर्चा की. उन्होंने कहा कि प्राकृतिक सौंदर्य को बिना हानि पहुंचाये इसके पास सड़क बनाई जाये. इसके आस-पास की भूमि को बेहतर तरीके से विकसित किया जाये. इस दौरान प्रशासक के अलावा समाहर्ता पी.एस.जानी, एसपी समीर शर्मा सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे. उक्त जानकारी दीव प्रशासन की तरफ से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में दी गयी है.