चीन से खूनी झड़प में शहीद बिहार के चार शहीद जवानों को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

9
चीन से खूनी झड़प में शहीद बिहार के चार शहीद जवानों को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई - बिहार

भारत-चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए कुंदन यादव, चंदन कुमार, अमन कुमार और जय किशोर सिंह को अंतिम विदाई देने के लिए भारी जनसैलाब उमड़ पड़ा। बिहार के इन सपूतों का जब पार्थिव शरीर शुक्रवार को इनके पैतृक आवास पहुंचा तो पूरे गांव में कोहराम मच गया। इस दौरान शहीदों के घरों पर हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

शुक्रवार सुबह समस्तीपुर के मोहिउद्दीननगर के सुल्तानपुर गांव में शहीद अमन सिंह का शव पहुंचा। प्रशासनिक अधिकारियों के बीच हजारों लोग शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल हुए। भारत माता की जय, अमन अमर रहे के नारे लगाए जा रहे थे। लोगों में अमन की शहादत पर फख्र तो चीन के प्रति काफी गुस्सा दिखा।

वहीं सहरसा के सतरकटैया प्रखंड के आरण गांव के रहने वाले शहीद कुंदन कुमार की अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। शहीद कुंदन का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

वैशाली जिले के जंदाहा प्रखंड के मुकुंदपुर भात पंचायत के चकफतेह निवासी शहीद सैनिक जयकिशोर सिंह को अंतिम विदाई देने के लिए पूरा गांव ही उमड़ पड़ा। ग्रामीण युवकों ने हाथों में तिरंगा लेकर पूरे जोश के साथ शहीद सैनिक एवं भारत माता की जय के नारे लगा रहे थे। 

भोजपुर के जगदीशपुर स्थित कौरा पंचायत का ज्ञानपुरा गांव के निवासी शहीद चंदन कुमार को भी पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। शुक्रवार सुबह जब शहीद चंदन का शव गांव पहुंचा तो ग्रामीण अपने लाल की एक झलक पाने को बेताब दिखें। गांव में ही नदी के किनारे शहीद चंदन का दाह संस्कार किया गया।