जमीनी हालात देखकर अगस्त माह के उपरांत सितंबर से खोले जाएंगे स्कूल

7

स्कूलों को खोलने का फैसला सितंबर माह के दौरान लिया जा सकता है। हालांकि स्कूल खोलने से पहले छात्रों के अभिभावकों, स्कूल प्रशासन एवं शिक्षकों की राय ली जाएगी। स्कूल खोलते समय कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हुए जमीनी हालात को भी मद्देनजर रखा जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय यह स्पष्ट कर चुका है कि स्कूलों को खोलने की प्रक्रिया अगस्त माह के उपरांत सितंबर से आरंभ की जाएगी। सरकार विभिन्न वगोर्ं की सहायता से कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न हुई जमीनी स्थिति का आकलन करेगी। इसके बाद ही आगे की कोई ठोस कार्रवाई की जाएगी।

सीबीएसई बोर्ड के नतीजे 15 अगस्त तक घोषित किए जा सकते हैं। 10वीं और 12वीं दोनों ही कक्षा के नतीजे महज कुछ ही दिनों के अंतराल पर घोषित किए जाएंगे। हालांकि स्कूलों को खोलने का फैसला अगस्त के उपरांत ताजा स्थिति को ध्यान में रखकर किया जाएगा। फिलहाल स्कूल खोलने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कोई तिथि निश्चित नहीं की है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एक चचार् के दौरान कहा कि हम आशा करते हैं कि 10वीं और 12वीं दोनों ही कक्षा के नतीजे 15  अगस्त तक घोषित कर दिए जाएंगे। इनमें पूर्व में हुई परीक्षाएं एवं जुलाई में होने वाली परीक्षाओं का परिणाम शामिल है।

स्कूलों को पुन खोले जाने के विषय पर केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा  कि अगस्त के बाद स्कूलों को खोलने की प्रक्रिया बनेगी।

इस बारे में अंतिम निर्णय मौजूदा हालातों का आकलन करने के उपरांत ही लिया जाएगा।  मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मुताबिक अगस्त के उपरांत ही विश्वविद्यालयों में भी नए सेशन की भी शुरूआत हो सकेगी।

जमीनी हालात देखकर अगस्त माह के उपरांत सितंबर से खोले जाएंगे स्कूल - शिक्षा

उधर दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने भी स्कूल खोले जाने के विषय पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय को एक पत्र लिखा है।  दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्र में कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुछ समय पहले कहा था कि हमें कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी होगी। ऐसे में स्कूलों को उचित सुरक्षा उपायों के साथ खोलना ही बेहतर कदम होगा।

जमीनी हालात देखकर अगस्त माह के उपरांत सितंबर से खोले जाएंगे स्कूल - शिक्षा

कई निजी स्कूलों की ओर से भी मानव संसाधन विकास मंत्रालय को स्कूल खोलने और इस दौरान स्कूलों में बरती जाने वाली सुरक्षा को लेकर उपाय सुझाए गए हैं। हालांकि मानव संसाधन विकास मंत्रालय फिलहाल स्कूलों को खोलने की जल्दी में कतई नहीं है। मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक फिलहाल  1 से 15 जुलाई के बीच 10वीं और 12वीं कक्षा की शेष रह गई बोर्ड परीक्षाएं करवाने की तैयारी की जा रही है। परीक्षाओं के उपरांत पहली प्राथमिकता 10वीं और 12वीं के नतीजे घोषित करना है। इसके बाद ही स्कूल कॉलेजों को खोलने की प्रक्रिया आरंभ की जा सकेगी।