जिले में कोविड-19 लैब सेम्पल टेस्टिंग का कार्य शुरू..

0
37

जिले में कोविड-19 लैब सेम्पल टेस्टिंग का कार्य शुरू

प्राथमिक स्तर पर सेम्पल यहां टेस्ट कर, जोधपुर भी पुनर्मूल्यांकन के लिए भेजें

जालोर 23 जून। जिला अस्ताल में कोविड-19 लैब आर.टी.पी.सी.आर. (रीयल टाईम पोली मरेज चेन रिएक्शन) मशीन पर सेम्पल टेस्टिंग का कार्य शुरू हो गया है।

अभी प्राथमिक स्तर पर की जा रही सेम्पल टेस्टिंग रिपोर्ट एवं सेम्पल को एस.एन.मेडिकल कॉलेज जोधुपर में भी जांच की मिलान हेतु भेजा जा रहा है। दोनों जगह की टेस्टिंग रिपोर्ट की मिलान की सुनिश्चितता की जा रही है।

       जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने मंगलवार को चिकित्सालय का निरीक्षण किया और कोविड-19 टेस्टिंग लैब की कार्यप्रणाली के बारे में जाना। प्रमुख चिकित्साधिकारी डॉ. एस.पी.शर्मा ने जिला कलक्टर को लैब की कार्यपणाली से अवगत कराया।

         इस टेस्टिंग मशीन के मुख्य उपकरण दो बायो सेफ्टी केबीनेट, एक पी.सी.आर.हुड, एक-एक माईनस 80 और 20 डिग्री रेफ्रीजरेटर, एक रेफ्रीजरेटर सैंट्रीफ्यूज मशीन एवं 2 पी.सी.आर मशीन हैं।

जिला कलक्टर ने एक विशेष आदेश जारी कर जिले की इस महत्वपूर्ण कोविड-19 टेस्टिंग लैब में सेम्पल जांच कार्य के लिए 24 जून से 8 जुलाई तथा 9 जुलाई से 23 जुलाई तक प्रातः 8 बजे से सायं 4बजे और दोपहर 2 से रात्रि 10 बजे तक के लिए पारी वाईज डॉ. राकेश कुमार सुंडा, डॉ. सुरेन्द्र सिंह, डॉ. सुरेश कुमार चौधरी, डॉ. विशाल जीनगर, डॉ. सुनील जाणी तथा डॉ. बुद्धाराम विश्नोई एवं 12 लैब टेक्निशियन को तैनात किया है। यह ड्यूटी जिला कलक्टर की अनुमति के बगैर नहीं बदली जा सकती हैं।

        यहां पर विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि जालोर में यह कोविड-19 टेस्टिंग लैब मशीन विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण को महामारी घोषित करने के परिप्रेक्ष्य में कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिए संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने एवं आम जन का जीवन बचाने हेतु व्यापक लोक हित में राज्य सरकार द्वारा 153 लाख रू. स्वीकृत किये गये हैं।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here