धूमधाम से मनायी गयी ईद-उल-अजहा, मस्जिदों में अमन-चैन की पढ़ी गयी नमाज

धूमधाम से मनायी गयी ईद-उल-अजहा, मस्जिदों में अमन-चैन की पढ़ी गयी नमाज | Kranti Bhaskar
Bakrid, Silvassa
सिलवासा : संघ प्रदेश दादरा एवं नगर हवेली में ईद-उल-अजहा का त्यौहार पूरे सिद्धत एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. सुबह होते ही जामा मस्जिद, किलवणी नाका मस्जिद, बाविसा फलिया मस्जिद, खानवेल मस्जिद सहित अन्य मस्जिदों में मुसलमान भाईयों ने ईद-उल-अजहा की जहां नमाज अदा की वहीं एक-दूसरे से गले मिलकर बकरीद की मुबारकबाद दी. साथ ही सभी ने अमन-शांति के लिए अल्लाताला से दुआ मांगी. इस अवसर पर प्रदेश के विभिन्न मस्जिदों में मुस्लिम समाज के लोगों की भीड़ रही और सभी ने सामूहिक रूप से बकरीद की नमाज अदा की. सिलवासा के आमली स्थित जामा मस्जिद में तो सुबह से ही समाज के लोग पहुंचे और नमाज अदा की, इसके बाद एक-दूसरे से गले मिलकर बकरीद की मुबारकबाद दी. यहां पर वापी-सिलवासा मुख्य मार्ग को कुछ समय के लिए वन-वे कर दिया गया था. इस दौरान सुरक्षा के दृष्टिकोण से पुलिस टीम भी तैनात रही. उल्लेखनीय है कि इस्लाम धर्म में साल में दो ईद मनाई जाती है. पहली ईद होती है ईद-उल-फितर और दूसरी होती है ईद-उल-जुहा. शनिवार को भारत सहित पूरे विश्व में फैले मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ईद-उल-जुहा (बकरीद) मनायी. बताया जाता है कि इस दिन के लिए अल्लाह की तरफ से आदेश आया था कि हर एक मुस्लिम इस दिन अपनी प्रिय चीज की कुर्बानी देगा. इस प्रथा को निभाते हुए इस दिन जानवरों की कुर्बानी दी जाती है. ज्ञात हो कि बकरीद पर दानह में कौमी एकता का माहौल देखने को मिला. मुस्लिम बिरादरों ने अपने हिन्दु व दूसरे मजहबी दोस्तों को दावतें दी और गले लगकर ईद की खुशियां बांटी.