“ना हमारी सीमा में कोई घुसा, ना हमारी पोस्ट किसी के कब्जे में”

8
“ना हमारी सीमा में कोई घुसा, ना हमारी पोस्ट किसी के कब्जे में” - राष्ट्रीय

नई दिल्‍ली: गलवान घाटी में चीन और भारत के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक अुलाई। इसमें पीएम में कहा कि लद्दाख में हमारे 20 जांबाज शहीद हुए, लेकिन जिन्होंने भारत माता की तरफ आंख उठाकर देखा था, उन्हें वो सबक सिखाकर गए। ना वहां कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है और ना ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है।

सर्वदलीय बैठक में ज्यादातर विपक्षी दलों के नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी पर भरोसा जताते हुए कहा कि चीन के खिलाफ सरकार के हर कदम को उनका समर्थन है। राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पूरा देश एकजुट है। विपक्षी दलों के नेताओं के साथ वर्चुअल मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि तैनाती हो या एक्शन या फिर काउंटर एक्शन हो, जल-थल-नभ में हमारी सेनाओं को देश की रक्षा के लिए जो करना है, वो कर रही हैं। आज हमारे पास ये क्षमता है कि कोई भी हमारी एक इंच जमीन की तरफ आंख उठाकर भी नहीं देख सकता। आज भारत की सेनाएं, अलग-अलग सेक्टर्स में, एक साथ मूव करने में भी सक्षम है।

पीएम मोदी ने कहा, “बीते वर्षों में देश ने अपनी सीमाओं को सुरक्षित करने के लिए, बॉर्डर एरिया में इंफ्रास्ट्रक्चर डवलपमेंट को प्राथमिकता दी है। हमारी सेनाओं की दूसरी आवश्यकताओं, जैसे फाइटर प्लेन्स, आधुनिक हेलीकॉप्टर, मिसाइल डिफेंस सिस्टम आदि पर भी हमने बल दिया है। नए बने हुए इंफ्रास्ट्रक्चर की वजह से खासकर एलएसी में अब हमारी पेट्रोलिंग की कैपेसिटी भी बढ़ गई है। पेट्रोलिंग बढ़ने की वजह से अब सतर्कता बढ़ी है और एलएसी पर हो रही गतिविधियों के बारे में भी समय पर पता चलता है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिन क्षेत्रों पर पहले बहुत नजर नहीं रहती थी, अब वहां भी हमारे जवान अच्छी तरह से निगरानी करने के साथ प्रतिक्रियाएं दे पा रहे हैं। अब तक जिनको कोई पूछता नहीं था, कोई रोकता-टोकता नहीं था, अब हमारे जवान डगर-डगर पर उन्हें रोकते हैं, टोकते हैं तो तनाव बढ़ता है।