पटवारी हत्याकांड की गुत्थी सुलझीः आशिक के साथ मिलकर पत्नी ने पति को उतारा था मौत के घाट

70
नई दिल्लीः दो मंजिला मकान से गिरने से पटवारी की संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस के मुताबिक पटवारी की मौ हादसा नही बल्कि उनकी सुनियोजित तरीके से हत्‍या की गई थी। जांच में इस हत्‍याकांड का मास्टरमाइंड खुद पटवारी की पत्नी निकली। मामला पति-पत्नी और वो का था, पटवारी और उनकी पत्नी दोनों के अलग-अलग प्रेम संबंध थे। पुलिस ने बताया कि पति की बेवफाई और प्रताड़ना से तंग पत्नी भी किसी और के प्यार में पड़ गयी और फिर आशिक के साथ मिलकर पति को हमेशा के लिए रास्ते से हटा दिया।

पत्नी का प्रेमी उससे 8 साल छोटा था। मर्डर मिस्ट्री सुलझाने के लिए पुलिस अधीक्षक की मौजूदगी में घटना का रिक्रेएशन भी कराया गया था। इस सनसनीखेज हत्याकांड में पटवारी संदीप की हत्या उसकी पत्नी प्रियंका ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर की। इसमें आशिक के एक दोस्त ने भी साथ दिया, तीनों ने मिलकर पटवारी को छत से नीचे फेंक दिया था। उसके बाद भी कहीं वो बच न जाए, इसलिए पत्थर पर पटक कर हत्या कर दी। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे डाल दिया है।

पटवारी संदीप सिंह संतोषी बिहार कॉलोनी में किराये के दो मंजिला मकान में पत्नी प्रियंका और दो बेटियों के साथ रहता था। 1 जून को वह छत के नीचे बुरी तरह ज़ख्मी हालत में मिला था। अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पहली नज़र में ये हादसा लगा कि संदीप की छत से गिरकर मौत हुई है, लेकिन घटनास्थल की जांच के दौरान फॉरेंसिक अधिकारी और कोलगवां पुलिस को संदेह हुआ कि दो मंजिला इमारत से गिरने के बावजूद उसके मोबाइल फोन में खरोंच तक नहीं आयी ये कैसे हो सकता है।

इतनी ऊंचाई से गिरने पर बॉडी इतनी दूर पड़ी नहीं मिल सकती। ऐसे में संदेह गहराया कि हो न हो मृतक को छत से धक्का दिया गया और फिर उस पर वजनी चीज से हमला किया गया। फॉरेंसिक अधिकारी का मानना था कि अगर कोई व्यक्ति इमारत से गिरता या कोई धक्का देता तो वह 6 से 7 फुट से ज्यादा दूर नहीं गिर सकता था।

वहीं प्रियंका ने पुलिस को बताया कि महिला पटवारी के साथ पति कई बार घर में ही आपत्ति जनक हालत में मिला था। विरोध करने पर संदीप और प्रेमिका महिला पटवारी बार-बार उसे हत्या की धमकी देते थे। संदीप ने तलाक के लिए आवेदन भी लगा रखा था। प्रियंका ने तलाक के बदले 20 लाख रुपए मांगे थे। इस पर संदीप और उसकी प्रेमिका ने प्रियंका की हत्या का प्लान बनाया। ये भनक लगते ही प्रियंका ने अपनी जान बचाने और संदीप को रास्ते से हटाने के लिए अपने परिचित अनूप से मदद मांगी।

प्रियंका का भी था अवैध संबंध 

मृतक पटवारी संदीप की दो बेटियां बोंनाजा स्कूल में पढ़ती हैं। बेटियों को स्कूल छोड़ने और लाने के दौरान प्रियंका का परिचय अनूप नाम के युवक से हुआ। बकौल प्रियंका पति की प्रताड़ना से परेशान होकर मेरा झुकाव अनूप की ओर हो गया। अनूप साथ रहने की जिद करने लगा, एक दिन अनूप को घर में देखकर पति संदीप ने दोनों के साथ मारपीट की। इससे तंग आकर प्रियंका और अनूप ने मिलकर पटवारी की हत्या की साज़िश रची।

हत्या के सभी आरोपी गिरफ्तार

पटवारी की मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने के बाद पुलिस ने उसकी पत्नी प्रियंका सिंह 29 वर्ष को गिरफ्तार कर लिया।्प्रिवंका का प्रेमी अनूप और उसका दोस्त सनी यूपी भागने की फिराक में थे। पुलिस ने घेराबंदी कर अनूप सिंह 21 वर्ष और सनी सिंह 20 वर्ष को धर दबोचा।