परदेशी प्रशासक आने के बाद देशी सांसद छुट्टी पर…

परदेशी प्रशासक आने के बाद देशी सांसद छुट्टी पर... | Kranti Bhaskar
Daman News

संध प्रदेश दमन-दीव व दानह को भारत सरकार द्वारा विशेष दर्जा प्राप्त है तथा इन दोनों प्रदेशों में प्रशासक पद एवं प्रशासक की नियुक्ति का कारण भी यह विशेष दर्जा ही बताया जाता है, सालो तक इन दोनों प्रदेशों में प्रशासक पद पर कई आई-ए-एस अधिकारियों ने विराजमान होकर अपनी अपनी सफल सेवा भी दी।

प्रशासक पद पर राजनेता की नियुक्ति से राजनीतिक पार्टियों एवं राजनेताओं पर खासा असर!

लेकिन जब से दमन-दीव व दानह में प्रशासक पद पर गुजरात के नेता प्रफुल पटेल को नियुक्त किया गया है तब से मानों ऐसा प्रतीत होता है कि दोनों संध प्रदेशों के सांसदो को प्रशासक प्रफुल पटेल द्वारा विशेष छुट्टी दे दी गई हो, ऐसा इस लिए कहा जा रहा है क्यो की जिस प्रकार की उपसतिथी तथा सक्रियता दोनों संध प्रदेशों के सांसदो की पूर्व में आई-ए-एस अधिकारियों के दौर में देखने को मिलती थी वैसी अब प्रशासक प्रफुल पटेल के दौर में देखने को नहीं मिल रही।

ये भी पढ़ें-  PWD का प्रशासन के पास एक ही विकल्प “भोया”।

आम जनता तथा राजनीतिक प्रबुद्धों का मानना है की प्रशासक पद पर राजनेता की नियुक्ति से सबसे ज्यादा असर दमन-दीव व दानह की राजनीतिक पार्टियों एवं राजनेताओं पर हुआ है इसके अलावे दोनों संध प्रदेशों के सांसद भी इस असर से अनभिज्ञ नहीं देखे, यह और बात है की इस असर का जिक्र वह खुले में नहीं कर रहे।