पूर्वी यूपी में जमकर हुई बारिश, कई नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के करीब

19
पूर्वी यूपी में जमकर हुई बारिश, कई नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के करीब - उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के पूर्वी भागों पर मॉनसून की मेहरबानी जारी है और पिछले 24 घंटों के दौरान इन हिस्सों में अनेक स्थानों पर बारिश हुई है। जल्द ही मॉनसून और जोर पकड़ेगा और अगले तीन दिनों तक प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में वर्षा होने की प्रबल संभावना है। आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के पूर्वी भागों में अनेक स्थानों पर जबकि पश्चिमी हिस्सों के कुछ इलाकों में बारिश हुई। कुछ स्थानों पर भारी वर्षा भी हुई।

इस अवधि में बर्डघाट (गोरखपुर) में सबसे ज्यादा 15 सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई। इसके अलावा मऊ में सात, गोरखपुर और पलियाकलां में छह-छह, बस्ती, डुमरियागंज (सिद्धार्थनगर), वाराणसी और एल्गिनब्रिज (बाराबंकी) में तीन-तीन, गोंडा, जमानिया (गाजीपुर), सुलतानपुर, रायबरेली, मनकापुर (गोंडा), हरदोई, रिगौली (गोरखपुर) और शाहजहांपुर में दो-दो सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई।

पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के गोरखपुर मण्डल में दिन के तापमान में खासी बढ़ोत्तरी हुई। वहीं, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, और मेरठ मंडलों में इसमें काफी गिरावट दर्ज की गई। फैजाबाद, गोरखपुर, वाराणसी, इलाहाबाद, कानपुर, लखनऊ और मेरठ मंडलों में यह सामान्य से खासा नीचे रहा। अगले 24 घंटों के दौरान भी राज्य के अनेक इलाकों में बारिश होने की संभावना है। आगामी 24 और 25 जून को प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में वर्षा होने का अनुमान है।

इस बीच, जलभरण क्षेत्रों में व्यापक वर्षा के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ने लगा है। केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक गंगा नदी का जलस्तर कचलाब्रिज (बदायूं) में खतरे के निशान के नजदीक पहुंच गया है। इसके अलावा शारदा नदी पलियाकलां (लखीमपुर खीरी) और घाघरा नदी एल्गिनब्रिज (बाराबंकी) में जबकि राप्ती नदी का जलस्तर बलरामपुर में लाल चिह्न के नजदीक पहुंच गया है।