बाबू पहलवान की हत्या के आरोपियों को भेजा जेल 

69
शिनाख्त परेड के बाद वापस गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया जाएगा
जोधपुर। करीब पांच माह पहले हुई बाबू पहलवान की हत्या के चारों आरोपियों को शुक्रवार को अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। उन्हें बापर्दा अदालत में पेश किया गया। पुलिस शिनाख्त परेड के उपरांत उन्हें गिरफ्तार कर रिमांड पर लेगी। यह शिनाख्त परेड जेल में करवाई जाएगी।
सदर कोतवाली थानाधिकारी इंद्रसिंह ने बताया कि गत वर्ष 21 दिसम्बर को विजय चौक में किसान छात्रावास के सामने रहने वाले बाबू पहलवान (70) पुत्र पन्नालाल वैष्णव की हत्या हो गई थी। इस हत्या के आरोप में जोधपुर हाल कोटा जवाहर नगर जितेन्द्र पुत्र रामचन्द्र व उसके भाई जयपुर में सीरसी रोड पर मीनावाल निवासी धर्मेन्द्र, मूलत: यूपी में मथुरा हाल कोटा निवासी रणवीर सिंह उर्फ नंदा पुत्र प्रतापसिंह गुर्जर और मूलत: एमपी में गुना हाल कोटा निवासी दौलतराम लोदा पुत्र रामप्रताप को गिरफ्तार किया गया था। चारों को कोटा से पकडक़र जोधपुर लाया गया। पूछताछ में वारदात स्वीकारने पर चारों को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों में शामिल जितेन्द्र व धर्मेन्द्र मृतक बाबू के चचेरे भाई है।
पूछताछ के बाद पुलिस ने दावा किया है कि बाबू के तांत्रिक क्रिया कलाप व जादू-टोनों से परेशान होकर दोनों भाइयों ने अपने दो साथियों की मदद से हत्या की थी। आरोपियों को अंदेशा है कि गत वर्ष बहनोई की आकस्मिक मौत में भी बाबू पहलवान की मैली क्रियाओं की भूमिका थी। पुलिस ने चारों आरोपियों को बापर्दा शुक्रवार को अदालत में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेजने के आदेश हुए। इन आरोपियों की जेल में शिनाख्त परेड करवाई जाएगी। उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया जाएगा।