भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने प्रशासक से विधुत विभाग के अभियंता को तुरंत बर्खास्त करने की मांग।

Vasu-&-Navin
Vasu-&-Navin
  • भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने प्रशासक से विधुत विभाग के अभियंता को तुरंत बर्खास्त करने की मांग।
  • सरकारी ज़मीनों पर लीज पूर्ण होने पर भी कंपनियों के जारी कार्यों पर जताई आपत्ति,तथा उक्त मामले किया प्रशासक से जल्द संज्ञान लेने का किया आग्रह।

दमन-दीव में हो रही अनियमितताओं एवं भ्रष्टाचार के मामलों को देख कर लगता है दमन-दीव में भ्रष्ट अधिकारियों का संरक्षक कोई न कोई वरीय अधिकारी ही कर रहा होगा, ऐसा इस लिए भी कहा जा रहा है क्यों की संध प्रदेश में हो रहे भ्रष्टाचार व अनियमितताओं की खबरे अखबारों की सुर्खियों के साथ शिकायतों की ताशली में प्रशासन को समय समय परोसी जाती है, लेकिन फिर भी उन भ्रष्ट अधिकारियों का बच निकालना किसी न किसी की संलिप्तता अवश्य दर्शाती है। हलही में कुछ ऐसा ही वाकया देश के गृह सचिव के साथ भी देखने को मिला, बताया गया की गृह सचिव मंगत सिंह को बचाने के चक्कर में अपनी कुर्सी गवां चुके है, लेकिन इस मामले में भाजपा की यह मुहिम क्या रंग लाएगी, एवं दमन-दीव प्रशासक गृह सचिव के साथ हुए मामले से क्या सबक लेंगे यह देखने वाली बात है। लेकिन दमन-दीव में इस बात की भी चर्चा है की प्रशासक का दोष तो इतना है की वह विकास आयुक्त से मित्रता कर बैठे, अब कसूरवार कोन है यह जांच एजेंसी ही बता सकती है, लेकिन इसके लिए जांच होना भी जरूरी है।

ये भी पढ़ें-  दमण में डोमिसाइल, जाति एवं निवास प्रमाण-पत्र छात्रों को उपलब्ध कराने की मांग

ज्ञात हो की संध प्रदेश दमन-दीव में एक लम्बे समय से विधुत विभाग के भ्रष्टाचार की चर्चा होती रही है, तथा यहां कई अनियमितताओं को बड़े धड्ड्ले से अंजाम दिया जाता रहा है, मामले में जांच की मांग तो होती रही, लेकिन जांच से मुह मोड़ती प्रशासन ने शायद अंजाम का आंकलन नहीं किया। यही आलम है की आज देश की सबसे बड़ी पार्टी के नेताओं ने दमन-दीव प्रशासन की कारगुजारियों के खिलाफ अपनी मुहिम छेड़ दी, हालांकि इस मामले में भ्रष्टाचार के अतिरिक्त भी कई मुद्दे शामिल है, जिनका जिक्र भाजपा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में किया गया है।

उक्त प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है की, कचिगाव मे सर्वे नंबर : 351/1, 352/2, 352/3, 353/1, 353/2, और 355 सरकारी जमीन पर लीज पूर्ण हो चुकी है लेकिन इस जमीन पर कंपनी का काम चालू है,इस लापरवाही के चलते भाजपा के नेताओं ने इसे तुरंत बंध करने की माँग की हैतथा दमन दीव के लिए मेडिकल कॉलेज एवं इंजीनियरिंग कॉलेज के निर्माण हेतु इस जगह को तुरंत रिजर्व किया जाने की भी माँगभी की गई है। भाजपा नेताओं ने पूर्व में जो उधोगिक इकाइयों और प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत के आरोप लगाए थे वह इस मामले को देखने के बाद सच साबित होते दिखाई दे रहे है। इसके अतिरिक्त भाजपा के नेताओं ने पर्यावरण संबधित मामलों पर भी अपनी आवाज बुलंद की एवं प्रशासन को पर्यावरण संबंधित मामलों में कार्यवाई करने की मांग भी की।

ये भी पढ़ें-  श्रीमद् भागवत कथा में शरीक हुए प्रशासक प्रफुल पटेल

प्रशासक को दिए गए आवेदन में दिलीप नगर मे रोड की मरम्मत तथा नवीनीकरण करने के लिए भी गया और इस सभी विषय पर गहराई से चर्चा की,इस प्रतिनिधि मंडल मे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री वासुभाई पटेल, श्री नवीन पटेल,श्री बालुभाई पटेल, श्री अरुण सिंहजी,श्री मनोज नायक, श्री अशोक काशी, श्री लखम टंडेल, पूर्व सांसद श्री गोपाल दादा, श्रीमती फाल्गुनिबेन पटेल,श्रीमती सोनलबेन पटेल, श्रीमती सरोजा कदुर, श्री महेश पटेल, श्री भूपेन पटेल, श्री नितिन टंडेल, श्री दीपेश टंडेल, श्री बॉबी कुंदरा, श्री उदय टंडेलइत्यादि कौर ग्रुप के सदस्य उपस्थित रहे थे ।