माहे रमजान शुरू, जुमे की पहली नमाज अदा की

30
जोधपुर। बरकतों व रहमतों का पवित्र माह रमजान शुक्रवार से शुरू हो गया। शुक्रवार को रमजान के पहले दिन जुमे की नमाज अदा की गई। इस अवसर पर शहर की दोनों ईदगाह और मस्जिदों में नमाजियों की भारी भीड़ रही। शहर के मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में जुमे की नमाज के खास इंतजाम किए गए।
पाक महीने रमजान का आगाज शुक्रवार से हुआ है। मुस्लिम समुदाय में पहले रोजे के साथ पहला जुमा होने की वजह से आज के दिन का महत्व और बढ़ गया। माहे रमजान के पहले जुमे की नमाज जालोरी गेट स्थित बड़ी ईदगाह, बम्बा, उदयमंदिर, खेतानाडी, सोजती गेट, तेलियों की मस्जिद, लोहारों की मस्जिद, सिवांची गेट, बकरामंडी और शहर के भीतरी भाग स्थित तमाम मस्जिदों में नमाज अदा की गई। नमाज से पहले पेश इमामों ने बयान में रोजे और नमाज की अहमियत पर जानकारी दी। नमाज में एक ही कतार में अमीर और गरीब सभी अल्लाह के दरबार में एक साथ खड़े दिखाई दिए। नमाज के दौरान खुत्बा हुआ और बारिश के लिए दुआ मांगी गई। कई मस्जिदों में अधिक नमाजी होने के कारण सडक़ पर बारदाना व टेंट लगाकर नमाज अदा करने के इंतजाम किए गए। नमाजी नए कपड़े पहनकर मस्जिदों में पहुंचे। महिलाआेंं ने घरों में ही नमाज अदा की। पहला रोजा और जुम्मा होने के कारण कई छोटे बच्चों और बुजुर्गों ने भी रोजा रखा और वे भी अपने परिवार के साथ नमाज पढऩे आए। मुस्लिम इलाकों में आज विशेष रौनक नजर आ रही थी।
बच्चों ने भी रखा रोजा
रमजान के पहले दिन अलसुबह मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में सेहरी के वक्त रौनक नजर आई। छोटे-बड़े सभी ने सेहरी कर पहला रोजा रखा। कई बच्चों ने आज भयंकर गर्मी के बावजूद पहला रोजा रखा। एेसे घरों में खुशी का दुगना माहौल देखने को मिला। सेहरी के बाद मस्जिदों में फज्र की नमाज अदा की गई। रमजान का महीना शुरू होने के साथ ही इबादत का दौर भी शुरू हो गया है। जकात और खैरात भी बांटे जाने लगे।