रह-रहकर सुलगती रही आग.. , प्लास्टिक गोदाम के मलबे से दूसरे दिन भी उठता रहा धुआं, ऐहितयात के तौर पर दमकल वाहन खड़ा किया

28

जोधपुर। हाथीराम का ओडा क्षेत्र में स्थित प्लास्टिक के गोदाम में सोमवार सुबह लगी भीषण आग का असर व कहर मंगलवार को दूसरे दिन भी जारी रही। यहां मलबे से दूसरे दिन भी दिनभर धुआं उठता रहा। इसके साथ ही रह-रहकर मलबे में दबी चिंगारियों से आग सुलगती रही। इस आग को कई बार दमकलकर्मियों ने पानी डालकर बुझाया। एेहितयात के तौर पर वहां दमकल वाहन खड़ा किया गया है।

शहर के व्यस्ततम रहवासीय और व्यवसायिक इलाके हाथीराम का ओड़ा क्षेत्र में सोमवार सुबह प्लास्टिक गोदाम में लगी आग अभी भी पूरी तरह से काबू नहीं आ पाई है। रात तक इसमें धुआं उठने के साथ मंगलवार सुबह फिर लपटें निकल पड़ी। इससे क्षेत्र में एक बार फिर दहशत का माहौल बन गया है। सुबह फिर आग लगने की जानकारी पर दो गाडिय़ां वहां रवाना की गई। देर शाम तक एक गाड़ी को एेहतियात के तौर पर वहां रखा गया।  इस तीन मंजिला इमारत में कल शहर की सभी डेढ़ दर्जन दमकलों सहित सेना व एयर फोर्स की दमकलों ने आग बुझाने का प्रयास किया था।

जमींदोज हुई पूरी इमारत

तीन मंजिला यह इमारत अब पूरी तरह से जमींदोज हो चुकी है। हालांकि मलबे के ढेर में से रह-रह कर आग की लपटे उठ रही है। भीषण आग के कारण तीन मंजिला इमारत पूरी तरह से ढह गई है। मंगलवार को दूसरे दिन भी फायर फाइटर्स सुबह से मौके पर आग बुझाने में जुटे रहे। फायर फाइटर का कहना है कि इस आग से पड़ोस में किसी प्रकार का खतरा नहीं है। प्लास्टिक के उत्पाद पूरी तरह जलने तक एेसी आग उठती रहेगी। संदेह है कि अभी कुछ प्लास्टिक आइटम अंदर मलबे में होने से आग लग रही है। हालांकि आज आस पास के लोगों द्वारा भी विशेष रूप से सावधानी रखी जा रही है। पुलिस बल भी क्षेत्र में लगा रखा है।

आसपास के लोग सहमे

इस भीषण अग्निकांड के बाद आस पड़ोस के लोग काफी सहमे हुए है। आसपास की गलियों के करीब दस मकानों में रहने वाले लोग अपने घर खाली कर रिश्तेदारों के यहां जा चुके है। जो लोग सामने रह रहे हे वह भी दहशत के साए में हर पल उस मलबे पर नजरें गड़ाए हुए है। यह लोग आज भी उस भीषण अग्निकांड को नहीं भूल पाए है। दूसरे दिन भी नगर निगम की दो दमकलें करीब दस से अधिक फेरे लगाकर मलबे से उठ रहे धुएं को शांत करने का प्रयास करती रही।

अधिकारियों ने किया दौरा

नगर निगम की तरफ से भी आज भी अधिकारियों ने उक्त स्थल का दौरा किया और जायजा लेने के बाद विभागीय कार्रवाई आरंभ की है। जोधपुर शहर और संभाग भर में प्लास्टिक के सामान को वितरण और विक्रय करने वाले गोविन्द प्लास्टिक के मालिक गोविन्द माली के इस गोदाम में करीब एक करोड़ का माल पड़ा होने की जानकारी आरंभिक तौर पर मिली थी।