लूट के आरोपियों से गहने व नकदी बरामद,पोकरण में भी की थी तीन लूट व चोरी की वारदातें, सभी आरोपियों को भिजवाया जेल

27
जोधपुर। जिले के शेरगढ़ थाना क्षेत्र में एक निजी बस में लूट की वारदात करने के आरोपियों से पूछताछ के बाद उनकी निशानदेही पर लूटे गए गहने व नकदी बरामद की गई है। रिमांड अवधि पूरी होने के सभी छह आरोपियों को पुन: अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेजने के आदेश हुए।
 शेरगढ़ थानाधिकारी भवानीसिंह ने बताया कि गत गुरुवार को दिनदहाड़े बस स्टैंड पर खड़ी एक निजी बस में लूट व डकैती की वारदात के मामले में मिर्जापुर थाना हाथरस जंक्शन जिला हाथरस (उत्तर प्रदेश) निवासी ननूमल पुत्र मोहनलाल अहीरिया, याकूतगंज पुलिस थाना शाहवर जिला काशगंज (यूपी) निवासी मेघसिंह पुत्र चिरंजीलाल, मिर्जापुर निवासी गजेंद्रसिंह पुत्र होदलसिंह अहीरिया, सरवन पुत्र निहालसिंह, रमेश पुत्र मुन्नालाल व प्रदीप पुत्र तांगपाल और मिर्जापुर निवासी इंद्रपाल पुत्र बालमुकुंद को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें बापर्दा न्यायालय में पेश किया गया जहां से इंद्रपाल को जेल भेजने के आदेश हुए वहीं शेष आरोपियों को तीन दिन के रिमांड पर सौंप दिया गया था। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने पोकरण में भी चोरी व लूट की तीन वारदातें स्वीकार की है। पुलिस ने आरोपियों से अंगूठी व 4500 रुपए बरामद किए है। उन्हें रिमांड अवधि खत्म होने पर वापस अदालत में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।
यह था मामला
देवीगढ़ (साई) गांव निवासी गोबरराम पुत्र लोंगाराम मेघवाल ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि उसकी पुत्री मंजू व उनका पुत्र प्रकाश दोनों शेरगढ़ बस स्टैंड पर उतरकर देवीगढ़ जाने के लिए बस में बैठे। उनकी पुत्री मंजू के पास अटैची थी जो सीट के पास रखी हुई थी। बस में सवार सात अज्ञात लुटेरे उनकी पुत्री की अटैची को चुरा ताला तोडक़र उसमें रखे जेवरात लूटने लगे, पास में खड़े प्रकाश ने लुटेरों से अटैची छुड़ाने का प्रयास किया तो लुटेरों ने मारपीट कर एक सोने की अंगूठी व 4500 रुपए लूटकर भाग गए।