वकीलों ने किया न्यायिक कार्यों का बहिष्कार, उदयपुर में हाईकोर्ट की बेंच की मांग का विरोध: प्रदर्शन करके सौंपा ज्ञापन, आज दूसरे दिन भी जारी रहेगी हड़ताल

59
वकीलों ने किया न्यायिक कार्यों का बहिष्कार, उदयपुर में हाईकोर्ट की बेंच की मांग का विरोध: प्रदर्शन करके सौंपा ज्ञापन, आज दूसरे दिन भी जारी रहेगी हड़ताल | Kranti Bhaskar
VAKIL
जोधपुर। उदयपुर में राजस्थान उच्च न्यायालय की पीठ स्थापित करने को लेकर राज्य सरकार की ओर से कमेटी गठित करने के खिलाफ जोधपुर में वकीलों ने सोमवार को एक दिन की हड़ताल रखी और न्यायिक कार्यों का बहिष्कार किया। उनकी हड़ताल से न्यायिक कार्य पूरी तरह से ठप रहे। अपनी मांग को लेकर वकीलों के दोनों संगठन राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन एवं लॉयर्स एसोसिएशन ने प्रदर्शन के बाद संभागीय आयुक्त को ज्ञापन भी सौंपा जिसमें उदयपुर में हाईकोर्ट की बेंच की मांग का विरोध जताया गया।
हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रणजीत जोशी एवं लॉयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कुलदीप माथुर ने बताया कि उदयपुर में हाईकोर्ट की बेंच स्थापित करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे वकीलों को आश्वासन देते हुए सरकार ने विधि मंत्री पुष्पेन्द्र सिंह राणावत की अगुवाई में एक समिति गठित कर दी है। इसके चलते जोधपुर में वकील उद्वेलित है। उन्होंने बताया कि राजस्थान के एकीकरण के समय से जोधपुर न्यायिक राजधानी है। उदयपुर में देवस्थान विभाग, आबकारी और खनन विभाग के मुख्यालय है। इसी प्रकार बीकानेर में शिक्षा विभाग और अजमेर में राजस्व मंडल के मुख्यालय तय किए गए थे। एेसे में अब हाईकोर्ट के टुकड़े करने की मांग बेमानी और अतार्किक है। वकीलों ने जयपुर बेंच के खिलाफ जोधपुर में करीब चालीस साल से चल रहे विरोध का हवाला देते हुए हाईकोर्ट को मारवाड़ का अधिकार बताया और उदयपुर की मांग को सिरे से खारिज करने की आवश्यकता जताई। इस संबंध में देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री के नाम संभागीय आयुक्त को ज्ञापन सौंपकर उदयपुर के लिए गठित कमेटी को तत्काल भंग करने की मांग की गई।
न्यायिक कार्य ठप
सारे वकीलों की हड़ताल के कारण हाईकोर्ट और उसके अधीनस्थ न्यायालयों में सभी न्यायिक कार्य ठप रहे। किसी भी न्यायालय में कोई अधिवक्ता पैरवी के लिए उपस्थिति नहीं हुए जिससे अदालती कामकाज पूरी तरह से प्रभावित हुआ। जोधपुर के दोनों प्रमुख संगठन हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन और लॉयर्स एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से हड़ताल रखी।
आज फिर हड़ताल पर
राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रणजीत जोशी ने बताया कि उदयपुर में हाईकोर्ट की बेंच की मांग के खिलाफ 22 मई को भी न्यायिक कार्यों का स्वैच्छिक बहिष्कार जारी रहेगा। एसोसिएशन की सोमवार को आयोजित बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक के बाद हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को इस संबंध में एक ज्ञापन सौंपकर न्यायिक कार्यों के बहिष्कार की जानकारी दी गई।