वकीलों ने राज्य सरकार को सद्बुद्धि देने के लिए किया यज्ञ, उदयपुर में हाईकोर्ट बेंच की मांग का विरोध: हवन कुंड में सैकड़ों वकीलों ने दी आहुतियां 

41

जोधपुर। उदयपुर में राजस्थान उच्च न्यायालय की पीठ स्थापित करने की मांग के खिलाफ जोधपुर के वकील प्रतिदिन विरोध तरीके बदल रहे है। धरना, वाहन रैली, जनप्रतिनिधियों से समर्थन, काले गुब्बारे उड़ाने के बाद इन वकीलों ने मंगलवार को राज्य सरकार को सद्बुद्धि देने के लिए हाईकोर्ट परिसर में यज्ञ किया। इस यज्ञ के हवन कुंड में सैकड़ों वकीलों ने आहुतियां देकर राज्य सरकार को सद्बुद्धि देने की कामना की।

राजस्थान उच्च न्यायालय की उदयपुर में प्रस्तावित सर्किट बेंच के विरोध में आंदोलन के तहत मंगलवार को भी राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन तथा लॉयर्स एसोसिएशन की ओर से न्यायिक कार्यों का बहिष्कार जारी रहा। इससे हाईकोर्ट सहित चालीस से अधिक अधीनस्थ न्यायालयों में सुनवाई के लिए रखे जाने वाले मामले प्रभावित हो रहे है। विरोध में समर्थन जुटाने के लिए दोनों एसोसिएशन की ओर से जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग की अपील की जा रही है। इसके साथ ही प्रतिदिन विरोध के नये तरीके अपनाए जा रहे है। इसी क्रम में मंगलवार को वकीलों ने विरोध का नया तरीका अपनाते हुए यज्ञ कर सद्बुद्धि की प्रार्थना की।

राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष रणजीत जोशी तथा लॉयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कुलदीप माथुर की अगुवाई में यह यज्ञ किया गया। इस दौरान एसोसिएशन के उपाध्यक्ष कपिल बोहरा, महासचिव धनराज वैष्णव, सहसचिव दिलीप शर्मा, लायर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष जितेंद्रसिंह खींची, महासचिव दीपेश बेनीवाल, कोषाध्यक्ष देवकीनंदन व्यास, सहसचिव राजेश परिहार के अलावा वरिष्ठ अधिवक्ता जगमाल चौधरी, हस्तीमल सारस्वत, सुनिल जोशी, रवि भंसाली, राजेश जोशी, बलविंदर सिंह, मनीष सिसोदिया, प्रकाश चौधरी, गजेंद्र मेहता, पवन रांकावत, योगेश परमार, दीनदयाल ढाका, रामनिवास चौधरी आदि अधिवक्ता उपस्थित थे।

कैंडल मार्च आज

राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन के महासचिव धनराज वैष्णव ने बताया कि आज हुई आमसभा में निर्णय लिया गया कि तीस मइ्र को न्यायिक कार्यों का बहिष्कार जारी रखते हुए उच्च न्यायालय परिसर में धरना लगातार रहेगा। साथ ही शाम साढ़े सात बजे से घंटाघर से शहर के अंदरूनी हिस्सों कन्दोई बाजार, कुमारियां कुआ, सर्राफा बाजार, आडा बाजार से होते हुए जालोरी गेट तक कैंडल मार्च निकाला जाएगा, जिसमें अधिवक्ता अपने हाथों में कैंडल जलाकर पैदल मार्च करेंगे। साथ ही जोधपुर के नागरिकों को इस आंदोलन से जोडऩे के लिए पर्चे वितरित किए जाएंगे।

इन्होंने दिया समर्थन

मंगलवार को धरना स्थल पर जोधपुर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सईद अंसारी, देहता जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हीरालाल मेघवाल, वरिष्ठ कांग्रेस नेता पवन मेहता, सुरेश व्यास, शांतिलाल लिम्बा, अनिल जोशी, हेमन्त श्रीमाली, इन्दु शेखर पारीक, मोहम्मद अनिस भूरठ, कांग्रेस विधि विभाग के प्रदेश महासचिव डा. गोपालराज कल्ला, सचिव नटवर शर्मा व धर्मेन्द्रसिंह राठौड़ सहित कई कांग्रेसजनों ने उपस्थित होकर संबोधित किया व अपना समर्थन प्रदान किया। इसके साथ ही भाजपा शहर के जिला उपाध्यक्ष नाथूसिंह राठौड़, सिख समुदाय के गुरुद्वारा श्री सिंह सभा के सरदार दर्शनसिंह व सरदार कुलदीपसिंह सलुजा, राजस्थान न्यायिक कर्मचारी संघ जिला शाखा जोधपुर के अध्यक्ष ओमप्रकश शर्मा व सुनिल मोहनोत, अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासभा, जोधपुर के शम्भूसिंह मेडतिया व रामरतन गहलोत, जोधपुर हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट एसोसिएशन के महेन्द्र छाजेड़, भरत दिनेश व मनीष पुरोहित, पुष्करणा प्रोफेशनल सोसायटी के एमजी व्यास व पंकज जोशी, पश्चिमी राजस्थान एनजीओ फार्म के संयोजक सत्यनारायणसिंह राजपुरोहित ने भी आंदोलन को समर्थन प्रदान किया।