संकलित जल व्यवस्थापन योजना का प्रशासक ने किया शिलान्यास

संकलित जल व्यवस्थापन योजना का प्रशासक ने किया शिलान्यास | Kranti Bhaskar
संघ प्रदेश दमण-दीव तथा दादरा नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल पटेल ने रविवार को कराड़ खाड़ीपाडा में दानह जिला पंचायत के संकलित जल व्यवस्थापन योजना (जल प्रभाग-२ और ३) का शिलान्यास किया. इसके साथ ही उन्होंने रखोली पंचायत कार्यालय, गर्वमेंट हायर सेकेण्डरी स्कूल एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का भी दौरा कर सुविधाओं एवं समस्याओं की जानकारी प्राप्त की. इस दौरान उनके साथ सांसद नटू पटेल, विकास आयुक्त उमेश त्यागी सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे.
जानकारी के अनुसार प्रशासक प्रफुल पटेल ने रविवार को रखोली, सायली एवं मसाट पंचायतों का दौरा कर विकासीय कार्यो एवं भविष्य की योजनाओं का निरीक्षण किया. इस अवसर पर प्रशासक के साथ विकास आयुक्त उमेश त्यागी, सांसद नटु पटेल, सिलवासा आरडीसी सौम्या, खानवेल आरडीसी शिवम तिओटिया, जिला पंचायत अध्यक्ष रमण काकवा, उपाध्यक्ष महेश गावित, सिलवासा नगरपालिका अध्यक्ष राकेशसिंह चौहान, उपाध्यक्ष अजय देसाई, प्रशासक के निजी सलाहकार डी.ए. सत्या सहित सभी संबंधित विभागों के अधिकारी स्थानीय जनप्रतिनिधि तथा रहवासी उपस्थित थे. प्रशासक प्रफुल पटेल ने सर्वप्रथम 151 करोड़ की लागत से बनने वाले शुद्ध पेयजल योजना (संकलित जल व्यवस्थापन योजना) का आधारशिला रखा.  जिला पंचायत के नेतृत्व में इस परियोजना से दमणगंगा का पानी निकाल कर उसका फिल्टर कर रखोली, सायली, दपाडा, किलवणी, गलोण्डा, रांधा, खानवेल, रूदाना, आंबोली, सुरंगी एवं खेरडी पंचायत विस्तारों में घर-घर पीने का पानी उपलब्ध होगा. इस महत्वकांक्षी परियोजना को आगामी डेढ़ वर्ष में बनाकर तैयार कर लेने की अवधि निर्धारित की गई है.
इस अवसर पर प्रशासक प्रफुल पटेल ने कहा कि दानह में पानी की परियोजना अत्यंत जरूरी था. यह निर्धारित समय से पूरा कर चालू हो जाएगा. उन्होंने पानी के महत्व पर खासकर महिलाओं से आग्रह करते हुए कहा कि वे पानी को बर्बाद न करें. प्रशासक ने कहा कि हमें बूंद-बूंद पानी बचाना है. उन्होंने सख्त लहजे में अधिकारियों एवं कांट्रैक्टर को चेताते हुए कहा कि पेयजल परियोजना निर्माण में इसकी गुणवत्ता के साथ कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और समय पर काम पूरा करना उनकी जिम्मेदारी होगी. प्रशासक ने बताया कि परियोजना का पानी उक्त सभी 11 पंचायतों में घरों-घरों से लगायत आंगणवाड़ी, स्कूल, पंचायत घर, अस्पताल, सरकारी कार्यालय, कंपनी एवं अन्य स्थानों पर मिलेगा. इसके बाद प्रशासक ने पेयजल योजना के संदर्भ में अधिकारियों-कांट्रैक्टर के साथ बैठक कर उन्हें निर्देशित किया कि परियोजना का रूपरेखा का पक्का प्लान तैयार कर ले.
इसके बाद प्रशासक प्रफुल पटेल ने अन्य अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ सर्वप्रथम रखोली पंचायत कार्यालय का दौरा किया. जहां पर उपस्थित जि.पं. सदस्य, सरपंच, उपसरपंच एवं सदस्यों के साथ मुलाकात की और वहां पर चल रहे विकासीय कार्यों की जानकारी ली. इस अवसर पर सरपंच चंपाबेन ने कहा कि रोड किनारे स्कूल होने से बच्चों को सड़क पार करना पड़ता है जिससे दुर्घटनाओं की संभावना बनी रहती है. अत: यहां पर पैदल पुल बनना जरूरी है. इसके अलावा उन्होंने बताया कि यहां इलेक्ट्रीक पोल गांव वाले अपनी जमीन में नहीं लगने दे रहे हैं. इस पर प्रशासक ने अधिकारियों को कहा कि यह एक सप्ताह में ठीक होना चाहिए. उन्होंने पंचायत में 10वीं पास एवं 10वीं के नीचे पढ़े लोगों की सूची तैयार करने का आदेश देते हुए कहा कि फिर मैं विचार करूंगा. इसके बाद प्रशासक ने रखोली स्थित स्वास्थ्य उप केन्द्र का मुआयना किया. जहां चिकित्सा प्रणाली से जहां संतुष्ट दिखे. यहां पर उन्हें स्वास्थ्य निदेशक डॉ.वी.के.दास ने स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी दी. उन्होंने वहां मरीजों से मिलकर उन्हें मिलने वाली चिकित्सा सुविधा की जानकारी ली. इसके बाद प्रशासक प्रफुल पटेल ने रखोली स्थित गर्वमेंट हायर सेकेण्डरी स्कूल का दौरा किया. उन्होंने शैक्षणिक व्यवस्था की जानकारी ली. इस दौरान शिक्षा सचिव सेजू कुरुविला एवं शिक्षा अधिकारी परितोष शुक्ला सहित शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे. उन्होंने बंद कमरे में करीब एक घंटे अधिकारियों एवं शिक्षकों के साथ बैठक की. सूत्रों से पता चला है कि प्रशासक ने दानह में शिक्षा का स्तर उठाने के लिए योग्य शिक्षक बनाने पर जोर देते हुए शिक्षकों से कहा कि शिक्षकों को औपचारिक मुल्यांकन परीक्षा देनी होगी. साथ ही विद्यार्थियों को हर माह टेस्ट देना होगा. कमजोर बच्चों को उपर लाने के लिए मेहनत करनी होगी. उन्होंने कहा कि शिक्षा में लापरवाही विसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी.
इस अवसर पर सांसद नटू पटेल ने कहा कि इस परियोजना के लिए जब प्रशासक प्रफुल पटेल जब गुजरात के गृहमंत्री थे तब उनसे करार हुआ था. आज उन्हीं के हाथों से परियोजना का शुभारंभ होना हर्ष की बात है. उन्होंने इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया. इस अवसर पर जि.पं. अध्यक्ष रमण काकवा ने कहा कि प्रशासक सुलझे हुए व्यक्ति है. उनका मार्गदर्शन जि.पं. को प्रोत्साहित करता है. वहीं जि.पं. उपाध्यक्ष महेश गांवित ने विश्वास दिलाया कि विकासीय कार्यों में जि.पं. प्रशासन का पूरा सहयोग करेगी. इसके बाद प्रशासक ने मसाट का दौरा किया. जहां पंचायत घरों में जन प्रतिनिधियों से मिलकर वहां के विकासीय कार्यों की समीक्षा की. फिर स्कूल का दौरा कर शैक्षणिक गतिविधियों की जानकारी हासिल की. प्रशासक ने फिर सायली पंचायत का दौरा किया. जहां पर निर्माणाधीन स्पोर्ट्स क्लब, पुलिस ट्रेनिंग स्कूल, पंचायत घर एवं हेल्थ सब सेंटर का दौरा कर अहम जानाकरियां प्राप्त की.