सबका पेट भरने वाला किसान आज मर रहा है

सेहमा सेहमा सा रहता है एक इंसान ना जाने क्यों डर रहा है !
सब का पेट भरने वाला किसान आज मर रहा है !

कभी कर्जे से परेशान तो कभी सरकार से परेशान होकर !
आज ना जाने बेचारा क्यों आत्महत्या कर रहा है !
सबका पेट भरने वाला किसान आज मर रहा है !

ये भी पढ़ें-  अवैध औद्योगिक क्षेत्र बस गया, नाम भी रख दिया, जिम्मेदारों का ध्यान ही नहीं

कभी बिजली पानी से परेशान तो कभी ब्याज खोरो से परेशान !
कभी बच्चों की शादी को लेकर परेशान डरा डरा सा लग रहा है !
सबका पेट भरने वाला किसान आज मर रहा है !

ये भी पढ़ें-  निफ्टी फार्मा इंडेक्स आउटपरफॉर्म; सिप्ला, डिविस की लैब से लाभ बढ़ा

संस्कृति बचा के रखी है जिसने भारतवर्ष की आज तक !
उस अंधी हो चुकी सरकार से कुछ तो कह रहा है !
सब का पेट भरने वाला किसान आज मर रहा है !

ये भी पढ़ें-  आर.टी.आई. - तीन अफसरों पर 25-25 हजार जुर्माना, सर्विस बुक में दर्ज करने के आदेश

समय रहते हम सब बचा सकते हैं इस अन्नदाता को सभी !
क्या कुछ कर पाएंगे हम किसानों के लिए यह सवाल उठ रहा है !
सब का पेट भरने वाला किसान आज मर रहा है