हत्या के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा

27
जोधपुर। जिला एवं सेशन न्यायाधीश ग्रामीण की अदालत ने देचू में होली के दिन गेर मंडली पर लाठियों व लकडिय़ों से हमला कर हत्या करने के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।
मामले के अनुसार जिले के देचू थाना अंतर्गत गत तीन मार्च 2012 को ग्रामीणों की गेर टोली फाग गीत गाते हुए देचू ग्राम में घूम रही थी। इस दौरान क्षेत्र के अन्य लोगों ने गेर के एक स्थान पर पहुंचने पर धारिये व लाठियों से हमला कर दिया। हमले में गेर मंडली के एक सदस्य मेघसिंह की मौके पर ही मृत्यु हो गई थी। इस मामले में देचू निवासी शैतानसिंह ने पुलिस में मामला दर्ज करवाया था जिस पर पुलिस ने आरोपी गोकुलराम, चतराराम, हड़मानाराम व तेजाराम के खिलाफ जुर्म प्रमाणित मानते हुए सेशन कोर्ट ग्रामीण में चालान प्रस्तुत किया।
इस मामले में गुरुवार को आरोपियों के सजा बिंदू पर बहस की गई जिसमेे लोक अभियोजक अधिकारी धनराज वैष्णव ने कोर्ट को आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा सुनाने का आग्रह किया तो वहीं बचाव पक्ष ने हाईकोर्ट से नरमी का रूख बरतने की अपील की। हाईकोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद इस मामले में सभी आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा के साथ ही 10 हजार रुपए के अर्थ दंड से दंडित किया है।