18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं

नई दिल्‍ली: कोरोना काल में पूरे देश ने लॉकडाउन वन देखा, लॉकडाउन टू देखा, लॉकडाउन थ्री देखा और 18 मई से लॉकडाउन 4.0 शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही साफ-साफ कह चुके हैं कि लॉकडाउन 4.0 का रुप-रंग अलग होगा। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आखिर 18 मई से कितनी छूट मिलेगी? कोरोना काल में जन और जग कैसे बचेगा? भले ही अभी लॉकडाउन के अगले चरण का औपचारिक ब्लूप्रिंट सामने नहीं आया है।लेकिन हम आपको बताएंगे कि आपको कहां रियायत मिल सकती है और कहां बिल्कुल किसी तरह भी तरह की रियायत नहीं मिलेगी।
18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार
18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

कोरोना के हिसाब से देश के नक्शे को तीन रंगों में बांटा गया है, रेड जोन यानी कोरोना का ज्यादा खतरा। ऑरेंज जोन यानी कम खतरा। ग्रीन जोन यानी कोरोना मुक्त इलाके। ऐसे में ग्रीन जोन में और ज्यादा छूट दी जा सकती है। प्रधानमंत्री मोदी ने ‘जन से जग तक’ का मंत्र दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने 20 लाख करोड़ रुपये के स्पेशल पैकेज का ऐलान किया है। MSME और सर्विस सेक्टर को भी कई तरह की छूट की घोषणा की। ऐसे में माना जा रहा है कि लॉकडाउन 4.0 में उद्योग से सर्विस सेक्टर तक के ज्यादातर दफ्तरों के शटर खुलने तय माने जा रहे हैं।

मेट्रो में क्या-क्या शर्तें हो सकती है?

  • दो यात्रियों के बीच एक सीट की दूरी होगी
  • लाइन में यात्रियों के बीच में कम से कम 1 मीटर की दूरी होगी
  • प्लेटफॉर्म पर सीमित यात्रियों को ही प्रवेश मिल सकती है
  • हर यात्री के लिए मास्क अनिवार्य किया जा सकता है
  • मेट्रो में एंट्री से पहले सैनिटाइजर से हाथ साफ करने की भी सुविधा दी जा सकती है
  • थर्मल स्क्रीनिंग से यात्रियों के टेंपरेचर की जांच हो सकती है

शायद इसीलिए मेट्रो स्टेशनों पर और मेट्रो ट्रेनों के भीतर जरुरी बदलाव किए जा रहे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि लॉकडाउन 4.0 में मेट्रो की सेवाएं शर्तों के साथ शुरू हो सकती हैं।

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

18 मई के बाद ऐसा होगा लॉकडाउन-4, इन शर्तों के साथ शुरू होंगी सेवाएं - राष्ट्रीय समाचार

लॉकडाउन में सबसे ज्यादा मुसीबत प्रवासी मजदूरों को झेलनी पड़ी। कारखाने बंद होने की वजह से खाली हाथ हो चुके मजदूर पैदल घर वापसी के लिए मजबूर हो गए। श्रमिक ट्रेनों के अलावा 15 स्पेशल ट्रेनें शुरू हो चुकी हैं। स्पेशल ट्रेनों में अब वेटिंग टिकट भी मिलेगा, लेकिन लॉकडाउन 4.0 में और ट्रेन शुरू होने की उम्मीद है। साथ ही सीमित रूट पर विमान सेवाओं के भी शुरू होने के चांस हैं।

ऐसे चलेंगी ट्रेन

  • न सिर्फ स्पेशल ट्रनों की संख्या में इजाफा होगा बल्कि आने वाले कुछ हफ़्तों में मेल एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन भी कुछ इसी तर्ज पर शुरू होगा।
  • नई स्पेशल ट्रेनों में वेटिंग टिकट भी मिल सकेगा, पहले इनमें केवल कन्फर्म टिकट ही बुक हो रहा था।
  • स्पेशल ट्रेनों के एसी-1 कोच में 20 वेटिंग टिकट दिए जाएंगे। वहीं एसी-2 में 50 सीटें और एसी-3 में 100 सीटें वेटिंग में दी जाएगी, जबकि स्लीपर में ये संख्या 200 होगी।
  • साथ ही प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए और ट्रेने चलाई जा सकती है। साथ ही राज्यों की मांग और ग्रीन एरिया को देखते हुए छोटे शहरो के बीच मेल एक्सप्रेस और यात्री गाड़ियों की संख्या भी बढ़ाने की तैयारी है।
  • लॉकडाउन के बीच और बाद में चलने वाले यात्रियों के लिए नियमों में कुछ बदलाव भी किया गया है। जिनमें ट्रेन के समय से कम से कम डेढ़ घंटे पहले रेलवे स्टेशन पहुंचने के लिए कहा गया है। जिससे यात्रियों के स्वास्थ्य जांच की जा सके।

ऐसे चलेंगे हवाई जहाज

  • लॉकडाउन 4.0 में हवाई जहाज उड़ान भरने लगेंगे। सरकार हवाई सेवाओं को इजाजत दे सकती है।
  • यह सिर्फ घरेलू और चुनिंदा स्थानों तक सीमित होगी।
  • हवाईसेवा शुरू करने के लिए सरकार ने हाल ही में एयरलाइन्स कंपनियों, एयरपोर्ट ऑपरेटर और दूसरे स्टेक होल्डर्स के लिए SoP जारी किया था और सुझाव मांगे थे।
  • SoP के मुताबिक, हवाई यात्रा के लिए यात्रियों को कई नए नियमों का पालन करना होगा।
  • यात्री को एक फॉर्म भरना होगा। इसमें कोविड-19 से जुड़े कई सवाल होंगे, जिनका जवाब देना होगा।
  • एसओपी में आरोग्य सेतु एप में ग्रीन स्टेटस, वेब चेक-इन और टेंपरेचर चेक की बात कही गयी है।
  • इसके अलावा उड़ान के तय समय से कम से कम 2 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना होगा।
  • हवाई जहाज में सवार होने और उससे उतरने पर इन नियमों का पालन करना होगा।
  • एसओपी में एक ही केबिन और कॉकपिट क्रू का इस्तेमाल रोस्टर के हिसाब से करने का भी प्रस्ताव है।
  • 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को यात्रा की इजाजत नहीं देने का प्रस्ताव है।
  • केबिन बैगेज की इजाजत नहीं होगी।
  • हर यात्री को सिर्फ एक लगेज ले जाने की इजाजत होगी।
  • सामान का वजन 20 किलोग्राम से कम होना चाहिए।
  • हवाई सेवाओं के लिए जारी SoP में सुरक्षाकर्मियों और एयरपोर्ट ऑपरेटरों के लिए भी खास उपायों का जिक्र है, जिनका कड़ाई से पालन करना होगा।
  • सीमित रूट पर सरकार लॉकडाउन 4.0 में हवाई सेवाओं को हरी झंडी दे सकती है, वो भी कड़ी शर्तों के साथ।