7 दिन से बंद जगह पर कोरोना की संभावना नहीं

0
3

अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (सीडीसी) का कहना है कि गर्मी की वजह से वायरस सतह पर ज्यादा देर टिक नहीं पाएगा। सीडीसी के इस बयान को अहम माना जा रहा है। क्योंकि, देश में इस समय भारी गर्मी पड़ रही है और कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। अमेरिका में कामकाज शुरू करने के लिए सीडीसी ने कुछ समय पूर्व ही रिओपनिंग गाइडलाइन जारी की हैं। इनमें विशेष तौर पर उपाय सुझाए गए हैं कि किस प्रकार कार्यालय में सावधानी बरतनी होंगी और सामान को संक्रमण रहित करना होगा।

इन्हीं दिशा-निर्देशों में सार्वजनिक स्थलों पर मौजूद ऐसी सतहों (जहां वायरस के संक्रमण की आशंका हो सकती है) के बारे में कहा गया है कि वहां नियमित सफाई करके संक्रमण से बचा जा सकता है। क्योंकि, सतह पर वायरस वैसे भी कुछ ही घंटे टिक पाता है, लेकिन गर्म मौसम एवं सूरज की रोशनी इसके जीवित रहने के समय को और कम कर देगी। पूर्व के अध्ययनों में कहा गया था कि स्टील, लकड़ी, प्लास्टिक आदि पर वायरस 48-72 घंटे तक जीवित रह सकता है, लेकिन सीडीसी की नई गाइडलाइन देखें तो गर्मी के चलते इतने समय तक वायरस के जीवित रहने की संभावना नहीं है।

बता दें कि चीन में हुए अध्ययन में करीब 35 फीसदी संक्रमण में फैलने का कारण पता नहीं चला था। तब यह अनुमान व्यक्त किया गया था कि सतह को छूने की वजह से यह संक्रमण हो सकता है।यदि कार्यालय,स्कूल, कॉलेज या कोई अन्य स्थान सात दिन से बंद है तो वायरस के मौजूद होने की संभावना नहीं है। मसलन, वहां किसी सतह पर या किसी अन्य रूप में वायरस के जीवित होने की संभावना नहीं है। इसलिए ऐसे स्थानों को संक्रमण रहित करने की कोई जरूरत नहीं है।