कोविड 19 के खिलाफ कारगर साबित हो रही है प्रशासन की रणनीति

COVID-19 कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे से निपटने के लिए संघ प्रशासन सभी आवश्यक कदम उठा रहा है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई जानकारी और सलाह को ध्यान मे रखते हुए स्थानीय प्रसार रोकने हेतु संघ प्रशासन ने रणनीति तैयार की  है । संघ प्रशासन की रणनीति के अनुसार प्रदेश मे आ रहे नागरिक की पहले दिन नमूने लेके जाँच की जा रही है । आज फिर से यह रणनीति दुबारा कारगर साबित हुई । कल मुंबई से वापस आये एक परिवार के कोविड 19 की जाँच के लिए नमूने लिए गए थे जिसमे आज 3 महीने की बच्ची की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी एवं माता पिता की रिपोर्ट नेगेटिव आयी | माता पिता एवं बच्ची को अलग आयसोलेट किया गया है एवं सभी का स्वास्थ्य ठीक है। इससे पहले भी जो दादरा का पहला पॉजिटिव केस प्रदेश मे पाया गया था उसमे भी यही रणनीति की गई थी । जिसके परिणाम स्वरूप पहले ही दिन कोविड 19 संक्रमित व्यक्ति का निदान हो गया था और प्रदेश मे कोविड 19 का फैलाव रोका गया था ।

ये भी पढ़ें-  संध प्रदेश दमन-दीव के भ्रष्टाचार का ऐतिहासिक खुलासा, भ्रष्टाचार में भागीदार सीबीआई!

संघ प्रशासन वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई एडवायजरी को भी प्रदेश मे लागू कर रहा है । इसी के अंतर्गत सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन होम्योपैथी द्वारा जारी एडवायजरी को प्रदेश मे लागू कर रहा है । इस एडवायजरी के अनुसार होम्योपैथी दवा ‘आर्सेनिकम एल्बम 30’  (वयस्कों के लिये 4 गोली एवं बच्चो के लिये 2 गोली प्रतिदिन) को कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ रोगनिरोधी दवा के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इस दवा को 3 दिन तक खाली पेट लेने पर कारगर माना गया है।  संक्रमण बने रहने पर एक माह बाद खुराक को दोबारा लिया जा सकता है।  बताया गया कि इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी की रोकथाम के लिए भी इस दवा को लिया जा सकता है। इसके साथ सी भारत सरकार द्वारा जारी वैयक्तिक स्वस्च्छ्ता का पालन करे जैसे की खुद की साफ-सफाई से रखे, बार-बार हाथ धोएं, गंदे हाथों से नाक, आंख और मुंह को न छूए, बीमार लोगों से दूरी बनाएं, खांसी और छींकते वक्त रुमाल या टिशू का इस्तेमाल करें और हाथों को भी धोएं, जानवरो को न छूए, कच्चे मांस का सेवन न करे, अगर आपको कोरोना वायरस के लक्षण दिखें तो मास्क लगाकर तुरंत अपने नजदीकी अस्पताल में चेक कराएं। किसीसे भी हाथ न मिलाये, सार्वजनिक स्थानो पर न थूके, चिकित्सक को बिना पुछे कोई भी दवा न ले, बीमार होने पर या जरूरी न हो तो यात्रा न करे। कोरोना वायरस के सम्बन्ध में सही जानकारी के लिए अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र, प्रदेश हेल्पलाइन -104, राष्ट्रीय हेल्पलाइन-1075, आपदा प्रबंधन-1077 अथवा वाट्सएप्प  नंबर +917211162132  पर संपर्क करे ।