कोरोना पर बोली सरकार – अब घरों के भीतर भी मास्क पहनना शुरू करें।

Covid Mask

देशभर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच अब सरकार ने एक अजीबो गरीब नसीहत दी है नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने सोमवार को कहा कि यह समय किसी को भी घर पर आमंत्रण देने का नहीं है बल्कि घर पर रहने और घर पर भी मास्क लगाकर रखने का है। सवाल यह है की क्या मास्क से कोरोना नहीं होता? क्या मास्क कोरोना से बचा सकता है? यह सवाल इस लिए क्यों की सोशल मीडिया में ऐसे दावे किए जा रहे है की मास्क से कोरोना नहीं रुक सकता है। खेर सोशल मीडिया में किए गए किसी भी दावे पर विश्वास तो नहीं होता लेकिन उससे सवाल खत्म नहीं हो जाता।

ये भी पढ़ें-  पुलिस के खिलाफ जाम किया हाईवे

डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि शुरुआती लक्षण दिखने पर खुद को तत्काल आइसोलेट करें। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट आने तक का इंतजार ना करें। उन्होंने कहा कि ऐसे में आरटी-पीसीआर टेस्ट निगेटिव आने की संभावना है। लेकिन फिर भी लक्षण को देखते हुए खुद को संक्रमित मानें और सभी गाइडलाइन को फॉलो करें।

एक संक्रमित व्यक्ति से 406 लोग हो सकते हैं संक्रमित

उन्होंने कहा कि अगर गाइडलाइन का पालन नहीं किया जाता है तो एक संक्रमित मरीज 30 दिनों में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है। ऐसे में अगर कोरोना संबंधित गाइडलाइन का पालन किया जाता है तो यह खतरा तीस प्रतिशत तक कम हो सकता है। सवाल यह है की सरकार कितने नियम बनाएगी, कितनी गाइडलाइन का पालन करने को कहेगी? कोरोना की वैक्सीन आने के बाद सब कुछ ठीक होने के दावों का क्या हुआ? आज वैक्सीन आई तो कोरोना दुगनी रफ्तार से लोगो की जान ले रहा है। दवाओं की कमी, ऑक्सीज़न की कमी पर कोई गइडलाइन है या नहीं? या सारे नियम और गाइडलाइने आम जनता के लिए ही है?

ये भी पढ़ें-  दमन-दीव व दानह के तत्कालीन प्रशासक पर सीबीआई का सिकंजा। पुडुचेरी मेडिकल घोटाले में आईएएस अधिकारियों का नाम।

?m=02&d=20200506&t=2&i=1517698503&w=780&fh=&fw=&ll=&pl=&sq=&r=2020 05 06T174904Z 35460 MRPRC2JIG9A3XB9 RTRMADP 0 HEALTH CORONAVIRUS USA

सरकार को चाहिए की पहले अपने सिस्टम को दुरुस्त करें, जनता नियमों पालन करती आई है और आगे भी पालन करती रहेगी क्यों की जनता मजबूर है गरीब है लाचार है, जनता के पास ना टैक्स लेने का अधिकार है ना टैक्स के पैसे से घोटाले करने का अधिकार है। जनता भी अजीब है, वो सब जानती है, सब समझती है लेकिन जैसे आज जनता स्वास्थ्य विभागों की पोल खोल रही है दवाओं और ऑक्सीज़न के कलाबजरियों को बेनकाब कर रही है वैसे पहले भ्रष्टाचार के खिलाफ शिकायते करती तो शायद बात कुछ और होती। खेर अब घर पर मास्क लगाने की सलाह तो मिल गई, इस सलाह को मानने के बाद, घर पर मास्क ना लगाने के लिए पेनल्टी के लिए नियम और गाइडलाइन कब जारी होगी यह भी सरकार को अभी ही बता देना चाहिए।