बंद रहे बाजार, सपूत को देखकर हर किसी की आंखें हुई नम, सैन्य सम्मान हुई अंत्येष्टि

जोधपुर/जैसलमेर। जम्मू-कश्मीर में आंतकियों से हुई मुठभेड़ में शहीद नायक राजेन्द्रसिंह को सोमवार को अंतिम विदाई दी गई। शहीद की अन्तिम यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए। गमगीन माहौल में भी जैसाण के लाडले के देश के लिए बलिदान देने का गौरव वहां मौजूद हर किसी में दिखाई देता रहा। घरों की दीवारों व छतों पर भी लोगों की भारी भीड़ अपने लाड़ले को देखने के लिए मौजूद रही। लाड़ले सपूत को देखकर हर किसी की आंखे नम हो गई। शहीद का मोहनगढ़ में सैन्य सम्मान के साथ अन्तिम संस्कार किया गया।

इससे पहले शहीद का शव सोमवार सुबह वायुसेना स्टेशन से मोहनगढ़ के लिए रवाना हुआ। शहीद राजेंद्रसिंह के दर्शनों के लिए हर ग्रामीण आतुर नजर आया। मोहनगढ़ का बाजार पूरी तरह से बंद रहा। जैसलमेर में शहीद के सम्मान में लोगों ने सडक़ के दोनों किनारों खड़े होकर पुष्पवर्षा कर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उनके घर में अंतिम दर्शन के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। शहीद को केंद्रीय राज्य मंत्री कैलाश चौधरी, अल्पसंख्यक मामलात मंत्री सालेह मोहम्मद, विधायक रूपाराम धनदे, जिला कलेक्टर नमित मेहता, पुलिस अधीक्षक डॉ किरण कंग, जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, सभापति कविता कैलाश खत्री, पूर्व सभापति अशोक तंवर सहित बड़ी तादाद में जनप्रतिनिधि, सेना के अधिकारियों, शहीद के परिजन, प्रशासनिक अधिकारी आदि ने अंतिम विदाई दी।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote