पुलिस आयुक्त ने ली दीक्षांत परेड की सलामी, 374 नवारक्षकों ने ली देश सेवा की शपथ

जोधपुर। पुलिस आयुक्त प्रफुल्ल कुमार ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने में अनुशासन व समझदारी जरूरी है। जनता और समाज की पुलिस विभाग से जो अपेक्षाएं है उस पर नवारक्षक खरा उतरने का प्रयास करेंगे और समाज में व्याप्त अपराध, संगठित व साइबर अपराध एवं सामाजिक कुरीतियों का दृढ़ता से सामना करेंगे। साथ ही कानून-व्यवस्था बनाए रखने में अपना सर्वोत्कृष्ट योगदान देंगे। यह कार्य अनुशासन, प्रशिक्षण, व्यावसायिक कौशल, बहादुरी व समझदारी से ही सम्भव है। वे शनिवार को को यहां सीमा सुरक्षा बल के सहायक प्रशिक्षण केन्द्र के अधीन चल रहे (झालावाड़ व करौली) बैच संख्या 234 व 237 के दीक्षांत परेड समारोह को संबोधित कर रहे थे। दीक्षांत परेड समारोह बीएसएफ के एसटीसी स्थित चंदन सिंह चंदेल परेड ग्राउंड में आयोजित किया गया। इस अवसर पर राजस्थान पुलिस के 374 नवारक्षकों ने भारतीय संविधान के प्रति कत्र्तव्यनिष्ठ होकर देश की एकता और अखंडता को कायम रखने की शपथ ली।

सीमा सुरक्षा बल के जोधपुर सहायक प्रशिक्षण केंद्र के कमांडेंट (प्रशिक्षण) वाईएस राठौड़ की अगवानी में मुख्य अतिथि जोधपुर पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार ने नवारक्षकों की परेड का निरीक्षण किया और सलामी ली। मुख्य अतिथि ने नवआरक्षकों को संबोधित करते हुए ईमानदारी एवं निष्ठापूर्वक कत्र्तव्य पालन करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आज का यह गौरवमय उत्साह व तेज से भरपूर दिन आपके जीवन का सुखद व यादगार दिन रहेगा और राजस्थान पुलिस परिवार का सदस्य होने के नाते मुझे इस क्षण का साक्षी बनने का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि यह आकर्षक एवं भव्य परेड कठिन परिश्रम व कठोर प्रशिक्षण का ही परिणाम है। उन्होंने नव आरक्षकों को मूल्यों को महत्व देते हुए व मानवाधिकारों का ध्यान रखते हुए अपने कत्र्तव्य की पालना करने की शिक्षा दी। अंत में उन्होनें परेड को दिशानिर्देश देने के लिए सहायक प्रशिक्षण केन्द्र की ट्रेनिंग टीम व प्रशिाक्षण के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में पदक प्राप्त करने वाले नवारक्षकों को बधाई दी और सभी नवारक्षकों के उज्जवल भविष्य की कामना की। दीक्षांत परेड के अवसर पर सेवानिवृत अधिकारियों व कार्मिको को सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से अलंकृत किया गया।

दीक्षांत समारोह के अवसर पर सीमा सुरक्षा बल सहायक प्रशिक्षण केंद्र के महानिरीक्षक अजमल सिंह कठात, कमांडेंट राजीव अग्निहोत्री व सीएमओ (एसजी) एनपी कोहली के अलावा राज्य प्रशासन, सीमा सुरक्षा बल, पुलिस व आईटीबीपी के अधिकारी, अधीनस्थ अधिकारी, जवान और उनके परिवारजन भी उपस्थित थे।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote