Daman RTO का एक और गड़बड़-झाला! यह नतीजा व्यस्थता का है कामचोरी का?

Daman RTO का एक और गड़बड़-झाला! यह नतीजा व्यस्थता का है कामचोरी का? | Kranti Bhaskar image 2
Daman RTO

दमन आर-टी-ओ की वेबसाइट के अनुसार अभी भी ट्रांसपोर्ट सेक्रेटरी संदीप कुमार है, जे-पी अग्रवाल डाइरेक्टर है तथा दमन के कलेक्टर है, विक्रम सिंह मलिक अभी भी दीव कलेक्टर है, तथा लोकेशचन्द्र अभी भी दमन के उपनिदेशक ट्रांसपोर्ट है।

दमन-दीव व दानह प्रशासन की सरकारी वेबसाइटों में गड़बड़ियों तथा अनियमितताओं को लेकर पहले भी क्रांति भास्कर कई बार प्रमुखता से खबरें प्रकाशित कर चुकी है लेकिन अब तक किसी मामले में प्रशासन द्वारा कोई संज्ञान नहीं देखने को मिला, सरकारी वेबसाइटों का यह हाल देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है की प्रशासन के अंदर का क्या हाल है।

दमन-दीव व दानह में प्रशासक प्रफुल पटेल जब से आए है तब से दमन-दीव व दानह में मीटिंग का दौर जारी बताया जाता है। प्रफुल पटेल की प्रशासक पद पर नियुक्ति को शायद जीतने दिन नहीं हुए उससे अधिक दमन-दीव व दानह में मीटिंगे हो चुकी होगी, लेकिन इसके बाद भी सरकारी वेबसाइटों का यह आलम देखकर भला कैसे विश्वास किया जाए की दमन-दीव व दानह में हो रही मीटिंगों से आने वाले समय में जनता को लाभ होगा, क्यों की इसी आर-टी-ओ विभाग के अधिकारी की करतूतों के चलते पहले ही प्रशासन पर उंगलिया उठ चुकी है ( पढिए आर-टी-ओ पर यह खास खबर जिस पर प्रशासक प्रफुल पटेल ने कोई संज्ञान नहीं लिया ) दमन आर-टी-ओ की वेसाइट पर अभी जो जानकारी है उसे तो गलत ही समझा जाएगा क्यों की संदीप कुमार को दमन से गए हुए जमाना हो गया, और इस जानकारी से यह अंदाजा भी लगाया जा सकता है की इस विभाग के अधिकारी कितने कर्मठ है और कितना काम करने वाले है।

ये भी पढ़ें-  दमन-दीव व दानह की जनता को विकास से अधिक नोकरी की आवश्यकता!

Daman RTO News

अब अगर इस जानकारी से भी दमन प्रशासन की नींद नहीं उड़ती, तो फिर दोष प्रशासक का नहीं बल्कि बीपीन पँवार द्वारा दी गई जनम गुट्टी का होगा! प्रशासक महोदय कृप्या चाटुकारिता से परहेज कर सत्यता पर ध्यान दे, यह सुझाव भी है और निवेदन भी। क्रांति भास्कर हकीकत बयान करने वाला वह आईना है और आईना हमेशा वही दिखाता है जो वास्तव में होता है फिर चाहे वह कितना भी तीखा और कड़वा ही क्यों ना हो सच को बदला नहीं जा सकता। इसे भी पढ़े