जोधपुर में फिर हुई जानलेवा मूसलाधार बारिश

जोधपुर। शहर में शुक्रवार को सुबह एक बार फिर जानलेवा मूसलाधार बारिश हुई। गुुरुवार रात से ही जारी बारिश के कारण यहां कई स्थानों पर जर्जर मकान व पेड़ गिर गए। वहीं गुलजारपुरा में पहाड़ की चट्टानें गिरने से वहां नीचे मकान में रह रहे एक किशोर व मासूम की दबने से मौत हो गई। वहीं एक अधेड़ घायल हो गया। बचाव व राहत कार्य के बाद यहां से दोनों शव निकाले गए। इस बारिश के कारण शहर की सडक़ों पर पानी के बाळे बहने लग गए और करीब एक दर्जन से अधिक निचली बस्तियों में पानी भर गया। गुरुवार रात करीब ग्यारह बजे से जारी बारिश का दौर शुक्रवार रात तक जारी था। इस दौरान यहां करीब चार इंच से अधिक पानी बरस चुका था। बता दे कि कुछ दिन पहले हुई मूसलाधार बारिश के कारण भी सरदारपुरा गोल बिल्डिंग क्षेत्र में एक मकान की पट्टियां गिरने से महिला की मौत हो गई थी।

पश्चिमी राजस्थान में मानसून एक बार फिर मेहरबान हो गया है। गुरुवार रात को शुरू हुई बारिश का दौर शुक्रवार को भी जारी रहा। शुक्रवार को सुबह शहरवासियों की नींद खुली तो तेज बारिश हो रही थी। बारिश के कारण सुबह स्कूल जाने वाले अधिकांश बच्चों ने स्कूल की छुट्टी रखी। इस कारण स्कूलों में बच्चों की संख्या बहुत कम रही। वहीं ऑफिस जाने वाले लोग भी बारिश की गति धीमी होने पर देरी से घर से बाहर निकले। इस कारण अधिकांश ऑफिस, बैंक व अन्य कार्यालय दोपहर तक सूने ही नजर आए। इधर तेज बारिश के कारण कई स्थानों पर परेशानी भी उठानी पड़ी। यहां कई स्थानों पर जर्जर मकान व पेड़ गिर गए। गुलजारपुरा क्षेत्र में पहाड़ की चट्टानें नीचे गिरने से दो लोगों की मौत हो गई। यहां पहाड़ की तलहटी में रहने वाले फारूख (17) और अमन (3) की मौत हो गई वहीं मोहम्मद रफीक (50) घायल हो गए। नया तालाब क्षेत्र में एक मकान की तीन पट्टियां गिर गई जिससे एक व्यक्ति के मामूली चोटें आई। सूचना पर प्रशासन ने यह मकान खाली करवा दिया। इसके अलावा निमाज हवेली की दीवार भी गिर गई। हालांकि किसी तरह की जनहानि नहीं हुई है। पालरोड खेमे का कुआ के पास भी एक पेड़ नीचे गिर गया।

जर्जर मकान का शेष हिस्सा गिरा

आडा बाजार क्षेत्र में एक जर्जर मकान गिर पड़ा। यह मकान कुछ दिन पूर्व हुई बारिश में गिर गया था। शेष बचा हिस्सा शुक्रवार को तेज बारिश के बीच गिर गया। हालांकि इसमें किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई। बता दे कि यह मकान खाली था इसलिए जनहानि होने से बच गई। इस मकान का मलबा सडक़ पर आ गया जिससे यहां यातायात जाम की स्थिति हो गई। बाद में जानकारी मिलने पर निगम का दस्ता मौके पर पहुंचा और राहत कार्य शुरू किया। निगम अधिकारियों का कहना है इस जर्जर मकान को लेकर पहले नोटिस जारी किया गया था लेकिन मकान मालिक ने इसकी मरम्मत नहीं कराई जिसके चलते मकान नीचे गिर गया। बताया जा रहा है कि इस मकान का पारिवारिक सम्पत्ति का विवाद चल रहा है जिसके चलते इस मकान की ना तो मरम्मत करवाई जा रही थी और ना ही इसे गिराया गया। मकान मालिक खुद कहीं अन्य स्थान पर किराये के मकान में रह रहा है।

कई इलाकों में भरा पानी

जोधपुर शहर में लगातार हो रही बारिश के कारण कई इलाकों में पानी भर गया है। बनाड़ रोड स्थित सुल्तान नगर, पांच बत्ती सांसी कॉलोनी, नेहरू कॉलोनी, रातानाडा पुलिस लाइन क्वार्टर में पानी भर गया है। वहीं कई स्थानों पर सडक़ें भी धंस गई थी जिनके कारण यहां यातायात बाधित रहा। नाले ओवरफ्लो होने तथा डटने के कारण कई कॉलोनियों में पानी भर गया। निरंतर भारी वाहनों के चलने से कई क्षेत्रों में खतरनाक गड्ढ़े हो गए है जिसमें किसी बड़े हादसे की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। कई स्थानों पर पुलिस ने बैरिकेट लगाकर बचाव के लिए प्रारंभिक तौर पर प्रयास किए है।

अस्पताल परिसर हुआ जलमग्न

भारी बारिश के कारण संभाग के सबसे बड़े मथुरादास माथुर अस्पताल में 2 फीट तक पानी भर गया जिससे मरीजों और उनके परिजनों को काफी बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा। अस्पताल परिसर पूरी तरह से जलमग्र हो गया। अस्पताल के ओपीडी में दवा वितरण में पानी भरने से सारी दवाइया भीग गई जिसकी सुध लेने वाला कोई नहीं था। गांवो से आए मरीज दवाइयां नहीं मिलने से परेशान हुए। वहीं जोधपुर के भीतरी शहर में एक मीनार मस्जिद के पास तेज बारिश के दौरान पानी के बहाव में एक जीप बह गई। सडक़ पर बहते पानी में जीप के बहने की खबर लोगों के लिए कौतुहल बन गई। भारी बारिश से मंडोर मंडी की जीरा मंडी में पानी घुसने से लाखों का जीरा पानी की भेंट चढ़ गया। व्यापारियों को लाखों का नुकसान हुआ है।

पुलिस लाइन फिर लबालब

तेज बारिश के बाद रातानाडा स्थित पुलिस लाइन का आवासीय परिसर एक बार फिर लबालब हो गया। लाइन में चिकित्सालय के पीछे स्थित पुराने क्वर्टरों में पानी घुस गया। पुलिसकर्मियों व उनके परिवार वालों ने जरूरत का सामान ऊंचाई पर रख बचाव के जतन किए। बता दे कि पुलिस लाइन में चिकित्सालय के पीछे वाला क्षेत्र जमीन तल से काफी नीचे है। ऐसे में बारिश के दौरान पानी का बहाव इस क्षेत्र में रहता है। बारिश के चलते चिकित्सालय के पीछे वाले क्षेत्र में सडक़ें व क्वार्टर तालाब में बदल गए। घुटनों के ऊपर तक पानी जमा हो गया। पुलिस जवानों के घरवालों ने पानी बाहर निकालने का जतन किया, लेकिन विफल रहे। पुलिस के उच्चाधिकारियों को अवगत कराए जाने पर नगर निगम की मदद से पानी निकालने के प्रयास किए गए।

मौसम हुआ सुहावना

इस बारिश के बाद मौसम सुहावना हो गया और लोग पिकनिक स्पॉट पर उमडऩे लग गए। बारिश के बाद लोगों को गर्मी व उमस से भी राहत मिल गई। बारिश से घुली ठंडक का आनंद लेने के लिए लोग पिकनिक स्पॉट की ओर निकल पड़े। कई लोगों ने घर पर ही खाने पीने का आनंद लिया। शुक्रवार सुबह से शहर में बारिश का दौर जारी रहा। लगातार बरस रही बारिश कभी तेज तो कभी हल्की होती रही। ऐसे में बारिश से लोगों के चेहरे खिल उठे। लोगों ने बारिश का भरपूर आनंद घरों व पिकनिक स्पॉट पर उठाया। पिकनिक स्थल कायलाना, तख्त सागर, भीमभडक़, मंडोर, माचिया सफारी पार्क और पब्लिक पार्क में लोगों की काफी रौनक देखने को मिली।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote