साउथ कोरिया में हैलोवीन फेस्टिवल के दौरान हादसा, 140 की मौत; 150 से ज्यादा घायल

दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हैलोवीन फेस्टिवल के दौरान एक बड़ा हादसा हुआ है। हादसे में कम से कम 140 लोगों की मौत और 150 से अधिक के घायल होने की खबर है। यह हादसा उस वक्त हुआ जब सियोल में हैलोवीन के दौरान काफी ज्यादा भीड़ हो गई थी। यह भीड़ एक संकरी गली से निकलने की कोशिश कर रही थी। तभी धक्का-मुक्की होने लगी और भगदड़ मच गई। हादसे के बाद दक्षिण कोरिया के प्रेसीडेंट ने बयान जारी कर लोगों के बेहतर इलाज के लिए निर्देश दिए हैं।

अचानक बढ़ गई भीड़
दक्षिण कोरिया की नेशनल फायर एजेंसी के अधिकारी चोई चियॉन-सिक ने बताया कि इटावोन लेजर जिले में शनिवार रात भीड़ अचानक बढ़ गई। उन्होंने बताया कि इस दौरान करीब 150 लोगों के घायल होने की आशंका है। इन लोगों को रविवार सुबह कार्डियक अरेस्ट की परेशानी हुई थी। चोई ने बताया कि अनुमान लगाया जा रहा है कि हैमिल्टन होटल के करीब संकरी गली में भीड़ काफी ज्यादा बढ़ गई थी। इसके बाद आगे निकलने के लिए धक्का-मुक्की करने लगे थे। स्थानीय मीडिया के मुताबिक वहां पर किसी सेलेब्रिटी के आने का अनाउंसमेंट हुआ था। लोग इस अनजान सेलेब्रिटी को देखने के लिए ही उस तरफ भागने लगे थे।

ये भी पढ़ें-  10 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बन सकता है भारत, अर्थव्यवस्था के 'अच्छे दिन' देखकर खुश हुआ IMF

मौके पर भेजे गए इमरजेंसी वर्कर्स
अधिकारियों के मुताबिक देशभर से 400 से ज्यादा इमरजेंसी वर्कर्स को मौके पर भेजा गया है। इन सभी लोगों को घायलों के इलाज के लिए तैनात कर दिया गया है। हालांकि अधिकारियों ने तात्कालिक तौर पर मौत का आंकड़ा जारी नहीं किया गया है। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें दिखाई दे रहा है कि तमाम लोग गलियों में गिरे हुए हैं और उन्हें सीपीआर दिया जा रहा है। पुलिस ने भी इस बात की पुष्टि की है। साथ ही तमाम अन्य लोगों को नजदीक के अस्पतालों में भर्ती करा दिया गया है।

583010222022 10

प्रेसीडेंट ने जारी किए निर्देश
एक स्थानीय पुलिस अफसर ने पहचान न जाहिर किए जाने की शर्त पर बताया कि उन्हें जानकारी मिली थी कि इतेवोन की गलियों में भगदड़ मच गई। यह लोग यहां पर हैलोवीन फेस्टिवल मनाने के लिए जुटे हुए थे। अफसर के मुताबिक घटना के असली कारणों को जानने के लिए अभी जांच जारी है। वहीं प्रेसीडेंट यून सुक यिऑल ने बयान जारी कर अधिकारियों के बेहतर इलाज और फेस्टिवल के स्पॉट की सुरक्षा के लिए कहा है। इसके अलावा उन्होंने स्वास्थ्य मंत्रालय को डिजास्टर मेडिकल असिस्टेंस टीमों को वहां तैनात करने के लिए कहा है।

ये भी पढ़ें-  गुजरात में एक साथ 150 स्थानों पर छापेमारी, राज्य एटीएस और जीएसटी का जॉइंट ऑपरेशन

17 साल की किम ने बताई हादसे की कहानी
हाई स्कूल में पढ़ने वाली 17 साल की किम सियो-जोंग अपनी दोस्त के साथ फेस्टिवल में शामिल होने के लिए घर से निकली थी। किम सियो-जोंग ने बताया, “हम हैलोवीन सेलिब्रेशन को लेकर बहुत एक्साइटेड थे। मैं अपनी दोस्त के साथ रात करीब 8 बजे इटावोन इलाके में पहुंची। वहां पैर रखने की जगह नहीं थी। हम आगे ही नहीं बढ़ पा रहे थे। हमने वापस घर जाने का सोचा लेकिन भीड़ होने के कारण हम कहीं नहीं जा पाए।

अचानक कुछ लोग चिल्लाने लगे धक्का दो। लोग एक-दूसरे को धक्का देने लगे। अचानक से मेरे सामने खड़ा एक शख्स गिर गया। धक्का लगने की वजह से मैं भी गिर गई। एक के बाद एक मेरे पीछे खड़े लोग भी गिरने लगे। कुछ लोग मेरे ऊपर भी गिरे। मैं सांस नहीं ले पा रही थी। लोग मदद के लिए चिल्ला रहे थे। कुछ लोगों ने हमारी मदद की। जैसे-तैसे मैं और मेरी दोस्त वहां से बाहर निकल पाए।”