अहमद पटेल के बेटे को ED ने भेजा समन, 14,500 करोड़ के घोटाले में होगी पूछताछ।

नई दिल्ली: देश में एक के बाद एक मामले में ED कि कार्यवाही नेताओं कि नींद उड़ा रही है। देश के किस नेता के यहाँ कब कोनसी जांच एजेंसी पहुँच जाए और कौनसा भ्रष्टाचार या घोटाला जमीन फाड़ कर बाहर निकाल ले कुछ कहा नहीं जा सकता। अभी कुछ दिन पहले चिदम्बरम, राज ठाकरे और हुड्डा के मामलों में जनता दे ईडी कि कार्यवाही देखी। अब जानकारी मिली है कि कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी के करीबी नेता और सलाहकार अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने समन भेजा है। फैसल को स्टर्लिंग बायोटेक केस (Sterling Biotech case) में ईडी ने पूछताछ के लिए बुलाया है। स्टर्लिंग बायोटेक केस में प्रवर्तन निदेशालय की ओर से अब तक की गई छापेमारी में हजारों करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई है, स्टर्लिंग बायोटेक गुजरात की एक फार्मां कंपनी जिसपर आंध्रा बैंक में घोटाले का आरोप है। इस मामले में कई बड़े लोगों के तार जुड़े होने की आशंका है।

प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले महीने इसी मामले में अहमद पटेल (Ahmed patel) के दामाद इरफान सिद्दीकी से भी पूछताछ की थी। नई दिल्ली के ईडी दफ्तर में वडोदरा स्थित कंपनी के मालिकों और प्रमोटर्स संदेसरा भाइयों के साथ अपने कथित संबंधों के बारे में बताने के बाद सिद्दीकी का बयान पीएमएलए के तहत दर्ज किया गया था। वैसे कुछ वर्षों पहले अहमद पटेल को लेकर यह चर्चा भी होती रही कि दादरा नगर हवेली कि बड़ी औधीगिक इकाई में अहमद पटेल का काला-धन लगा है। हालांकि ED कि लिस्ट में दादरा नगर हवेली कि किसी कंपनी का नाम है या नहीं यह तो नहीं पता, लेकिन ED अगर तहक़ीक़ात करें तो उसे उस कंपनी का नाम भी मिल जाएगा।

पेशे से वकील इरफान सिद्दीकी की शादी अहमद पटेल की बेटी मुमताज पटेल से हुई है। अहमद पटेल गुजरात से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हैं। वह यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव भी रह चुके हैं।

ईडी का दावा है कि इरफान सिद्दीकी और फैसल पटेल से पूछताछ की जा रही है, क्योंकि एजेंसी को उनके खिलाफ नए सबूत मिले हैं। 14,500 करोड़ रुपये का बैंक लोन फ्रॉड को वड़ोदरा स्थित फार्मा फर्म और उसके मुख्य प्रमोटर नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा की ओर से किया गया और ये सभी फरार हैं।

ED की जांच में आया है कि संदेसरा ग्रुप ने भारतीय बैंको की ओवरसीज ब्रांचों से भी करीब 9000 करोड़ का बैंक लोन लिया, लोन लेने के बाद पैसों को फर्जी कंपनियों के जरिये अलग-अलग देशों में भेजा गया और उसके बाद नाइजीरिया में पार्क किया गया। ED ने कुछ दिनों पहले कारवाई करते हुये संदेसरा ग्रुप की विदेशों में 9778 करोड़ रुपये की संपति अटैच की थी। जिसमें नाइजीरिया में ऑयल फील्ड, प्लेन, शिप्स और लंदन में घर शामिल हैं।

भारत में 249 और विदेशों में 96 फर्जी कंपनियां
जांच में पता लगा है कि संदेसरा ग्रुप ने अपने कर्मचारियों के नाम से भारत और विदेशों में फर्जी कंपनियां बना रखी थी। भारत में 249 और 96 कंपनियां विदेशों में थी। ED को शक है कि नीतिन और चेतन संदेसरा इस समय नाईजीरिया में ही छिपे हुये हैं। दोनों कांग्रेस नेता अहमद पटेल के काफी करीबी है।

मालूम हो कि कांग्रेस के लगभग सभी बड़े नेता और उनके रिश्तेदार किसी ना किसी बड़े घोटाले में आरोपी हैं। INX मीडिया घोटाले में पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम कस्टडी में हैं। वहीं उनके बेटे कार्ति चिदंबरम जमानत पर चल रहे हैं। खुद सोनिया गांधी और राहुल गांधी भी जमानत पर चल रहे हैं। ऐसे में अब अहमद पटेल के बेटे पर ED सिकंजा कांग्रेस के लिए एक बड़ी कालिख साबित हो सकती है।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote