पांच अन्य घायल, मृतकों में महिलाएं और बच्चा भी शामिल

जोधपुर। जोधपुर-जैसलमेर रोड़ पर आगोलाई के पास ढाढणियां गांव में शुक्रवार को दोपहर एक मिनी बस और बोलेरो कैम्पर के बीच आमने सामने भीषण भिड़ंत हो गई। इस भिड़ंत में 16 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में सात महिलाएं और बच्चा भी शामिल है। वक्त दुर्घटना दोनों वाहनों की गति तेज होने के कारण हुई इस भिंड़त में दोनों गाडिय़ां बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई जिसके चलते बचाव और राहत कार्य भी प्रभावित हुए। दुर्घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को बालेसर में प्राथमिक उपचार के बाद सघन उपचार के लिए एमडीएम अस्पताल में भेजा गया। बताया गया है कि मिनी बस का टायर फटने की वजह से बोलेरो कैंपर से टक्कर हो गई थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दोपहर करीब एक बजे आगोलाई और ढाढणियां के बीच हाईवे पर बोलेरो कैम्पर और मिनी बस के बीच भिड़त हो गई। बोलेरो जोधपुर से बालेसर की तरफ जा रही थी जबकि मिनी ट्रेवल्र्स बस शेरगढ़ की तरफ से आ रही थी। बालेसर राता भाकर निवासी श्रवणसिंह पुत्र गिरधारीसिंह का परिवार झंवर स्थित अपने रिश्तेदारों के यहां बैठने के लिए आया था। वापस लौटते वक्त ढाढणिया गांव के समीप सामने से आ रही सवारियों से भरी मिनी बस का टायर फटने की वजह से बोलेरो कैंपर से टक्कर हो गई। धमाके के साथ दोनों वाहन भिड़े और कुछ ही देर में मौके पर क्रंदन और हाहाकार मच गया और मौके पर खून ही खून फैल गया। पलक झपकते ही हुए इस हादसे के बाद दोनो वाहनों के परखच्चे उड़ गए और बोलेरो और बस में बैठी कई सवारियां उछलकर सडक़ पर जा गिरी वहीं जो अन्दर फंसे हुए थे उनको निकालने में काफी मशक्कत उठानी पड़ी। हादसे के बाद प्रारंभिक तौर पर राह चलते वाहन चालकों ने अपनी गाडिय़ां रोककर दोनों गाडिय़ों में फंसे लोगों को बाहर निकाला और पुलिस तथा एम्बुलेंस को सूचना दी। सूचना मिलते ही आगोलाई चौकी और बालेसर थाने से पुलिस मौके पर पहुंची। इधर जोधपुर से भी पुलिस जाब्ते और एम्बुलेंसों को मौके पर भेजा गया। हादसे में घायल लोगों को बालेसर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया गया। वहां से गंभीर आठ घायलों को जोधपुर रैफर किया गया। यहां मथुरादास माथुर अस्पताल में इलाज के दौरान तीन और घायलों की मौत हो गई। शेष घायलों का इलाज जारी है।

ये है मृतक व घायल

हादसे में बालेसर तहसील में ग्राम पंचायत जलंधर नगर के उम्मेदनगर निवासी श्रवणसिंह पुत्र गिरधारीसिंह, उसकी पत्नी प्रेम कवंर, मूलसिंह पुत्र रूपसिंह, जैतसर निवासी गुलाब कंवर पत्नी आमसिंह, शेरगढ़ तहसील में तिबना निवासी स्वरूप कंवर पत्नी नरेंद्रसिंह, देचू थानान्तर्गत जैतसर निवासी सखीना पत्नी कम्मे खां, पदमगढ़ सोलंकिया तला निवासी रावलराम पुत्र दीपाराम व नारायणराम पुत्र हेमाराम, तेना शेरगढ़ निवासी फूल कंवर पत्नी भोमसिंह, पूजा उर्फ संतोष पुत्री भोमसिंह, संतोषनगर पाबूसर निवासी कालूराम पुत्र खेराजराम व उसका पुत्र चनणाराम, जैसलमेर जिले में फलसूंड थानान्तर्गत बाघथल रातडिया निवासी गोकलराम पुत्र भीयाराम की बालेसर में ही मौत हो गई। वहीं घायल देचू थानान्तर्गत जैतसर निवासी एमणी पत्नी राणेखां, चांदसमा निवासी हुक्माराम पुत्र भैराराम और बालेसर निवासी आमसिंह पुत्र शैतानसिंह ने यहां मथुरादास माथुर अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। हादसे में बस चालक इलियास पुत्र रहमतुल्लाह खां, जिया पत्नी इस्लाम खां, अर्जुन पुत्र हेमाराम, भंवरलाल पुत्र जसराज और यशपाल पुत्र देवाराम घायल हो गए।

मुख्यमंत्री ने जताया दुख

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए अपनी संवदेनाएं व्यक्त की हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे में जान गंवाने वाले लोगों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। इस बारे में उन्होंने ट्विट किया है।

 

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote