आयम्बिल तप की आराधना में उमड़े श्रद्धालु

जोधपुर। श्री जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक तपागछ संघ के तत्वावधान में आयोजित तीर्थंकर नेमिनाथ केवल ज्ञान कल्याणक व आचार्य वल्लभसूरिश्वर महाराज की पुण्यतिथि निमित्ते तप आराधकों को आयम्बिल प्रत्याखाण करवाकर तप आराधना की गई।

तपागछ संघ प्रवक्ता धनराज विनायकिया ने बताया कि श्री रत्न प्रभ धर्म क्रिया भवन के प्रांगण में प्रफुल्लप्रभा व वैराग्यपूर्णा की निश्रा में तीर्थंकर नेमिनाथ भगवान का केवल ज्ञान कल्याणक दिवस तथा जैनाचार्य वल्लभसूरिश्वर महाराज की 65वीं पुण्यतिथि के निमित्ते श्रावक बलवंत खिंवसरा परिवार की तरफ से आयंबिल तप रखा गया। आराधना के दरम्यान श्रीसंघ की ओर से लाभार्थी परिवार का बहुमान किया गया। श्रावक लक्ष्मीचंद बागरेचा परिवार की ओर से लक्की ड्रॉ तथा विभिन्न भक्तों द्वारा प्रभावना की गई। इस अवसर पर साध्वी प्रफुल्लप्रभा ने कहा कि भगवान महावीर व जैनाचार्य वल्लभसूरिश्वर महाराज के बताए सिद्धांतों आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास करके उनके सद्विचार व सद्गुणों को आत्मसात करेंगे तभी तीर्थंकरों महापुरुषों गुरुजनों के विशेष दिन मनाना सार्थक होगा। साध्वी वैराग्यपूर्णा ने कहा कि तप से भव के कर्म कटते है।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote