ललित मोदी गुट ने खड़ा नहीं किया उम्मीदवार, कुछ जिला संघ भी समर्थन में सामने आए

जयपुर। राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के नए अध्यक्ष वैभव गहलोत होंगे। हालांकि अभी उनके नाम पर औपचारिक ऐलान होना बाकी है। आरसीए अध्यक्ष पद के लिए वैभव ने नामांकन भर दिया है। इस पद पर उनके सामने कोई अन्य दावेदार नहीं होने से उनका बनना तय माना जा रहा है। गौरतलब है कि मंगलवार और बुधवार को नामांकन भरे जाने की तारीख तय है, जबकि ज़रुरत हुई तो चुनाव के लिए वोटिंग चार अक्टूबर को होगी। वैभव सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे हैं। वे जोधपुर से सांसद का चुनाव भी लड़ चुके हैं। हालांकि उन्हें सांसद चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

इससे पहले वैभव गहलोत ने आरसीए पहुंचकर अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया। इस दौरान वैभव को समर्थन दे रहे जिला संघ के पदाधिकारी मौजूद रहे। नामांकन भरने के लिए वैभव अपनी बेटी को भी साथ लेकर आये थे। जानकारी के अनुसार वैभव के समर्थन में ललित मोदी गुट के कुछ जिला संघ भी उतर आये। वहीं डूडी गुट से जुड़े जिला संघों ने अध्यक्ष पद पर अपना दावेदार नहीं उतारना तय किया। ऐसे में वैभव के निर्विरोध अध्यक्ष बनने की संभावनाएं और प्रबल हो गईं।

गौरतलब है कि आरसीए अध्यक्ष पद को लेकर पिछले कुछ दिनों से ‘क्रिकेट पॉलिटिक्स’ परवान पर आई हुई थी। मुख्य मुकाबले में वैभव गहलोत गुट के सामने रामेश्वर डूडी गुट रहे। डूडी राजस्थान विधानसभा में पूर्व नेता प्रतिपक्ष रह चुके हैं और अब क्रिकेट की सियासत में अपना भाग्य आज़मा रहे थे। नामांकन भरने के बाद मीडिया से बातचीत में वैभव ने कहा,’मैं क्रिकेट में नया नहीं हूं। इससे पहले सीपी जोशी ने मुझे मौका दिया था। वहीं आईपीएल मैच में भी काम करने का अवसर मिला। सीपी जोशी जी के मार्गदर्शन में आगे भी हम बेहतर काम करके दिखाएंगे।

दरअसल, आरसीए चुनाव को लेकर स्थिति सोमवार देर रात को ही साफ हुई। दिन भर सुनवाई के बाद चुनाव अधिकारी आरआर रश्मि ने वोटर लिस्ट जारी की जिसके बाद वैभव गहलोत के लिए आरसीए अध्यक्ष बनने का रास्ता साफ हो गया। वहीं रामेश्वर डूडी का पत्ता कट गया। वोटर लिस्ट में नांदू गुट या पूर्व में ललित मोदी गुट के तीन जिलों अलवर, नागौर और श्रीगंगानगर जिलों को अयोग्य ठहराया गया है। इन जिला संघों में दोनों गुट में से किसी को भी मान्यता नहीं दी गई। ऐसे में अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी जताने जा रहे पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी का पत्ता कट गया, क्योंकि वे नागौर जिला क्रिकेट संघ से प्रतिनिधित्व कर रहे थे। वहीं राजसमंद जिला क्रिकेट संघ से कोषाध्यक्ष के रूप में वैभव गहलोत प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

इधर कांग्रेस के नेता व नागौर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष रामेश्वर डूडी ने वोटरलिस्ट जारी होने से पूर्व आरोप लगाया कि आरसीए चुनाव में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सीपी जोशी भले ही क्रिकेट का तजुर्बा रखते हैं, लेकिन उनका रवैया ठीक नहीं रहा। कोई भी संस्था गुटबाजी से आगे नहीं बढ़ सकती है। यही हाल कई सालों से आरसीए का हो रहा है। आरसीए पार्टी से काफी ऊपर है। इसमें शामिल जिला संघ के पदाधिकारी अन्य पार्टियों से भी जुड़े हुए हैं, इसलिए इसका कांग्रेस पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि हजारों युवाओं के भाग्य और उनकी भावनाओं की कद्र करते हुए हम एक जाजम पर बैठकर सकारात्मक सोच के साथ फैसला लेने को तैयार हैं।

भाजपा के नेता और कोटा जिला संघ के सचिव आमिन पठान ने कहा कि आरसीए के कुछ जिला संघों पर आज भी ललित मोदी का दखल है। उन्होंने कहा कि पर्दे के पीछे ललित मोदी ही काम कर रहे है। उन्होंने आरोप लगाया कि रामेश्वर डूडी का क्रिकेट से कोई लेना देना नहीं हैं।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote