प्याज-लहसून के बाद अब आसमां छू रहे दाल के भाव

जोधपुर। प्याज लहसून के बाद अब दालों के भाव आसमां छू रहे है। पिछले करीब एक पखवाड़ा के भीतर दालों की कीमतों में दस रुपए तक वृद्धि हुई है। हालांकि सरकार ने 31 अक्टूबर तक दाल आयात की अनुमति दी है यह समय-सीमा बढ़ सकती है।

कारोबारियों ने बताया कि पिछले 15 दिनों में दालें सात से दस रुपए प्रति किलो तक महंगी हुई है। मूंग मोगर दस रुपए बढक़र 95 रुपए प्रति किलो बिक रहा है। वहीं अरहर में भी सात रुपए प्रति किलो ग्राम की तेजी दर्ज की गई। कारोबारियों का कहना है कि कीमतों में तेजी जारी रहने की आशंका है। मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश का असर उड़द, मूंग और अरहर की गर्मियों की फसलों पर पड़ेगा। कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से खरीफ उत्पादन कम रहने की आशंका है। इसके अलावा व्यापारियों और मिलों की तरफ से दालों की ताजा खरीद बढ़ाई गई थी।

बताया गया है कि दाल और सब्जियों के दामों में भारी वृद्धि को देखते हुए सरकार दालों के आयात की समय-सीमा बढ़ाने पर विचार कर सकती है। सरकार ने अरहर दाल के आयात के लिए 4 लाख टन के अलावा मूंग और उड़द की दाल के आयात के लिए 1.5-1.5 लाख टन का कोटा आवंटित किया है। इसके अलावा भारत और मोजांबिक के बीच हुए एक समझौते के तहत 1.75 लाख टन अतिरिक्त अरहर मोजांबिक से आएगी।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote