स्वामी नारायण मंदिर में चल रही थी नकली नोटों की छपाई, पुजारी सहित पांच गिरफ्तार।

गुजरात। गुजरात पुलिस ने अपनी कारवाई के दौरान करीब 1 करोड़ रुपये कीमत वाले 2000 हजार के नकली नोट पकड़े हैं। यह कारवाई पुलिस ने रविवार को की। सूरत क्राइम ब्रांच ने मंदिर परिसर पर छापे मारकर 5 लोगों को गिरफ्तार किया, जिसमें मंदिर का एक पुजारी भी शामिल है।

पुलिस ने एक मुखबिर की सूचना पर यह छापेमारी की है जिसमें 2 हजार के 5013 नकली नोट जब्त किये गए इन नोटों की कीमत करीब एक करोड़ 26 हजार रुपये बताई जाती है। क्राइम ब्रांच की टीम ने एक साधु समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। ये सभी अलग-अलग जगहों पर नकली नोट को छापने का काम कर रहे थे।

ये भी पढ़ें-  ग्रामीणों ने जलबहाव की व्यवस्था के लिए आवेदन पत्र सोपा

खेड़ा जिले के आम्बाव गांव में स्वामी नारायण मंदिर का निर्माण कार्य 4 साल से चल रहा है। इस मंदिर के एक कमरे से 50 लाख रुपये के नकली 2 हजार के नोट बरामद किये गए। पुलिस ने मंदिर के पुजारी राधा रमन स्वामी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, मंदिर में दिन के समय लोगों का आना-जाना होने के कारण रात के समय यहां नोटों की छपाई का काम होता था।

ये भी पढ़ें-  वलसाड समाहर्ता ने आंगनवाड़ी केन्द्र का किया निरीक्षण 

क्राइम ब्रांच की टीम ने मिली सूचना के आधार पर सूरत में कामरेज स्थित एक फॉर्म हाउस पर भी छापा मारा, इस जगह से प्रतीक चोडवाडिया को 2000 रुपये के नकली 203 नोट के साथ गिरफ्तार किया, जब प्रतीक से पुछताछ की गई तो उसने पुजारी के अलवा 3 अन्य लोगों के नाम बताये, प्रवीण चोपड़ा, कालू चोपड़ा और मोहन वधूराडे।

ये भी पढ़ें-  पेपर मिल में लगी भीषण आग 

इससे पहले भी देश भर में अलग अलग जगह कई बार नकली नोटो की छपाई के मामले सामने आते रहे है लेकिन यह मामला काफी चौकाने वाला है क्योकि यह छपाई मंदिर निर्माण की आड़ में हो रही थी। सरकार के लिए वैसे भी नकली नोट एक बड़ी परेशानी का कारण रहे है और ऐसे में जब कि बाजार में मंदी छाई है तब के समय में नकली नोटो कि छपाई और कमर तोड़ने का काम कर रही है।