पुष्य नक्षत्र पर बन रहा विशेष संयोग, बाजारों में खरीदारी की रहेगी बूम

जोधपुर। नवरात्रा में बंपर बिक्री के बाद अब जोधपुर के व्यापार जगत को पुष्य नक्षत्र व धनतेरस का इंतजार है। दीपावली से पहले इस बार खरीदारी के लिए दो दिन पुष्य नक्षत्र है। 21 अक्टूबर को सोम पुष्य और 22 अक्टूबर को भौम (मंगल) पुष्य नक्षत्र रहेगा। दोनों दिन अन्य शुभ योगों का संयोग भी रहेगा। इधर बाजार भी दीपावली के लिए सजकर तैयार है। ग्राहकी भी रफ्तार पकडऩे लगी है।

दीपावली के पहले आने वाले पुष्य नक्षत्र में खरीदारी शुभ होती है। इस नक्षत्र में वाहन, मकान, दुकान, कपड़े, सोना, बर्तन, भूमि व भवन आदि की खरीदारी कर सकते है। पुष्य नक्षत्र में सोना खरीदने का विशेष महत्व है। माना जाता है कि शुभ योग में सोना खरीदने पर सुख-समृद्धि आती है। पुष्य नक्षत्र 21 अक्टूबर को शाम 5.33 से शुरू होकर दूसरे दिन मंगलवार शाम 4.40 तक रहेगा। सोम पुष्य पर 21अक्टूबर को सिद्धि योग भी रहेगा। अगले दिन भौम पुष्य एवं सुबह 10.55 तक साध्य योग और इसके बाद शुभ योग रहेगा। मंगल तांबे का देवता है। इस दिन कीमती धातु के साथ ही तांबे के बर्तन भी खरीदे जा सकते हैं।

कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी 25 अक्टूबर को सुबह 7.08 बजे शुरू होगी और 26 अक्टूबर दोपहर 3.47 बजे समाप्त होगी। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी है। धनतेरस के दिन आयुर्वेद के देवता धनवंतरि का पूजन किया जाता है। इस दिन धन के देवता कुबेर का पूजन होगा। यम देवता का भी पूजन कर घर के सामने इनके नाम का दिया जलाया जाता है। यम का पूजन करने से अकाल मृत्यु का भय नहीं रहता।

पुष्य नक्षत्र व धनतेरस के इंतजार में वाहनों के शोरूम तैयार हैं। कई लोगों ने वाहनों की बुकिंग करवा ली है। दुपहिया के साथ ही चारपहिया वाहनों पर शोरूम संचालक कई आकर्षक ऑफर दे रहे हैं। इलेक्ट्रॉनिक आइटम जैसे एलइडी टीवी, वाशिंग मशीन, रेफ्रिजरेटर, गीजर, म्यूजिक बॉक्स आदि की भी बिक्री जोरों से होने वाली है। दुकानों व शो रूम पर एडवांस बुकिंग की जा रही है ताकि ग्राहकों को शुभ मुहूर्त पर माल की डिलीवरी दी जा सके।