रीवर बेसिन मैनेजमेंट प्लानिंग, स्वच्छ जल और वाटर वेस्ट मैनेजमेंट के क्षेत्र में दोनों देश करेंगे एक दूसरे का सहयोग

जोधपुर। नदियों के बेसिन मैनेजमेंट प्लानिंग तथा स्वच्छ जल और वाटर वेस्ट मैनेजमेंट के क्षेत्र में भारत व हंगरी एक दूसरे का सहयोग करेंगे। दोनों देश जल प्रबंधन के क्षेत्र में उच्च स्तरीय तकनीक का आदान-प्रदान करेंगे। इसको लेकर दोनों देशों के बीच एमओयू हस्ताक्षर किया गया है। केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत की मौजूदगी में एमओयू पर विस्तार से चर्चा की गई। इसके बाद दोनों देशों के बीच इस पर सहमति जताई गई और एमओयू हस्ताक्षर किया गया।

भारतीय जनता पार्टी के संभाग मीडिया प्रमुख अचलसिंह मेड़तिया ने बताया कि केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत हंगरी के बुडापेस्ट में विश्व जल सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे है। बुडापेस्ट वाटर समिट के दौरान जल शक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत के नेतृत्व में हंगरी व भारत के बीच एमओयू हस्ताक्षर किया गया। इसके तहत दोनों देश रिवर बेसिन मैनेजमेंट प्लानिंग, जल एवं वाटर वेस्ट मैनेजमेंट के क्षेत्र में एक दूसरे का सहयोग करेंगे। जलशक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत ने हंगरी के भ्रमण के दौरान ही हंगरी के राष्ट्रपति जेनोस एडर से शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान हंगरी के एडर ने शेखावत का स्वागत किया। बाद में दोनों ने एन्वायरमेंट एवं सस्टेनेबल डवलपमेंट के मुद्दे पर चर्चा की। जल प्रबंधन के क्षेत्र में दोनो देश किस प्रकार एक दूसरे का सहयोग कर सकते हैं तकनीक का आदान प्रदान कर सकते हैं। ऐसे अनेक मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान जलशक्ति मंत्री शेखावत ने हंगरी के राष्ट्रपति को भारत आने का आमंत्रण भी दिया, जिसे उन्होंने सहर्श स्वीकार किया।

मोबाइल वाटर ट्रीटमेंट का अवलोकन

बुडापेस्ट वाटर समिट में शामिल होने गए केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत ने हंगरी ईआरडी में हिदरो फ्लीट में मोबाइल वाटर ट्रीटमेंट सुविधाओं का अवलोकन किया। इस दौरान वहां के अधिकारियों ने बताया कि किस प्रकार वेस्ट वाटर को शोधन प्रक्रिया के बाद स्वच्छ पेयजल के रूप में उपयोग किया जाता है। इस दौरान शेखावत ने भारत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वर्श 2024 तक हर घर जल पहुंचाने संबंधी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

मंत्रियों ने शेखावत का किया स्वागत

इसी प्रकार शेखावत ने हंगरी के जेंटेंडर कस्बे में पहुंचकर मोबाइल फ्लड कंट्रोल वॉल का अवलोकन किया। इस दौरान मेयर जेसोल्ट फ्यूइपो ने शेखावत का स्वागत किया और प्रोजेटक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। वाटर समिट के दौरान ही हंगरी के कृषि मंत्री डॉ. इस्तवान नैजी ने शेखावत से मुलाकात की और उनका स्वगत किया। इस मौके पर डॉ. नैजी ने एक कॉफी टेबल बुक शेखावत को भेंट की। हंगरी के ही इंटीरियर और जल मंत्रालय के मंत्री डॉ. सेंडोर पिंटोर ने मुलाकात के दौरान केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री शेखावत का स्वागत किया।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote