थार में नहीं थम रहा सामूहिक आत्महत्याओं का दौर

63

जोधपुर। संभाग के बाड़मेर जिले में सामूहिक आत्महत्या करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। रामसर थाना क्षेत्र के सेतराऊ गांव में गुरुवार को एक प्रेमी युगल ने पेड़ पर फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। घटना की जानकारी तथा पेड़ से शव लटकते देख क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शव को पेड़ से नीचे उतारा। इसके बाद शवों को मोर्चरी में भिजवाया और कार्रवाई की। पुलिस में मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार सुबह सेतराऊ गांव की सरहद पर खेजड़ी के पेड़ पर रस्सी के फंदे से युवक और युवती के शव लटके मिले। युवक की पहचान बींजासर गांव के निवास के रूप में हुई जबकि लडक़ी सेतराऊ गांव की है। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव पेड़ से उतरवाकर परिजनों को इत्तला दी गई। पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द किए। रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

प्रेम-प्रसंग के चलते सामूहिक आत्महत्या

केस 1 – नोख गांव के पास अणखिया सरहद में 14 जुलाई को विवाहिता ने अपने प्रेमी के साथ फंदा लगाकर आत्महत्या।

केस 2 – बालोतरा के पास 9 जुलाई की रात एक युवक-युवती ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। दोनों रिश्ते में भाई-बहन थे।

केस 3 – बीजराड़ थाना क्षेत्र के गौहड़ का तला गांव के पास 28 जून को एक प्रेमी युगल ने पेड़ से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

केस 4 – चौहटन थाना क्षेत्र के लीलसर में 14 जून को प्रेमी-युगल ने देसी कट्टे से फायर कर दी जान।

केस 5 – चौहटन थाना क्षेत्र के सनाऊ सरहद राणीसर में 3 अप्रेल को प्रेमी-युगल ने खेत में पेड़ पर फंदा लगाकर की आत्महत्या।

केस 6 – चौहटन क्षेत्र के आंटिया सरहद में गत 29 मार्च को टांके में नाबालिग छात्र-छात्रा ने कूद कर दी जान।

केस 7 – धोरीमन्ना थाना क्षेत्र में 12 जनवरी को बाखासर के युवक ने प्रेमिका के गांव राणासर में आत्महत्या कर ली।

केस 8 – गत 9 जनवरी को बालोतरा में युवक-युवती ने ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली।