वापी में 2 ओर कोरोना पॉज़िटिव, हरिया हॉस्पिटल के डाक्टर ओर स्टाफ़ कोरोंटाइन में!

वापी। चारों ओर नाका-बंदी, हर नुक्कड़ पर पुलिस का बंदोबस्त फिर भी ( Vapi ) वापी से भिवंडी ओर भिवंडी से पुनः वापी का सफर करने का जो मामला सामने आया है वह काफी चौकाने वाला भी है ओर काफी चिंता जनक भी है। अभी कल ही ख़बर आई थी कि वापी में दो कोरोना पॉज़िटिव केस मिले है जिनमे एक वापी के गोदाल नगर का है तो दूसरा वापी के जनसेवा हॉस्पिटल का लेब-टेक्निसियन बताया जाता है। इस ख़बर से पहले वलसाड जिले में केवल एक केस एक्टिव बताया जाता था ओर लोग ( Valsad ) वलसाड जिले को ग्रीन जोन में आने उम्मीद लगाए बैठे थे लेकिन उक्त दो मामलों ने सब को चिंता में डाल दिया।

वापी में 2 ओर कोरोना पॉज़िटिव, हरिया हॉस्पिटल के डाक्टर ओर स्टाफ़ कोरोंटाइन में! - वलसाड समाचारवापी में 2 ओर कोरोना पॉज़िटिव, हरिया हॉस्पिटल के डाक्टर ओर स्टाफ़ कोरोंटाइन में! - वलसाड समाचारअब जानकारी मिली है कि वापी के गोदाल नगर के निवासी महम्मद कैफ शिद्दीक के ( Covid-19 ) कोरोना पॉज़िटिव आने के बाद उसके पिता, तथा भाई दोनों कोरोना पॉज़िटिव आए है। बताया जाता है कि उक्त दोनों कुछ दिनों पहले भिवंडी गए थे ओर दोनों कोरोना पॉज़िटिव आए है। इसके आलवे सूत्रों द्वारा एक चौकाने वाली ओर काफी चिंता जनक जानकारी यह भी मिली है कि गोदाल नगर के निवासी महम्मद कैफ शिद्दीक के पिता हरिया हॉस्पिटल में भर्ती थे, जिसके चलते हरिया हॉस्पिटल के डाक्टर एस-एस सिंह सहित 4 अन्य डाक्टर एवं स्टाफ़ को कोरोंटाइन किया गया है। सूत्रों का कहना है कि वलसाड जिले के वापी में जो दो व्यक्ति कोरोना पॉज़िटिव आए है वह लगभग 225 के कोंटेक्ट में आए थे जिनमे से लगभग 90 लोगों को बुखार कि शिकायत बताई जाती है।

वापी में 2 ओर कोरोना पॉज़िटिव, हरिया हॉस्पिटल के डाक्टर ओर स्टाफ़ कोरोंटाइन में! - वलसाड समाचार

अब सवाल यह उठता है कि लॉकडाउन में जहा आम आदमी बे-कारण घर से बाहर निकले तो पुलिस मामला दर्ज़ कर सलाखों के पीछे डाल देती है ऐसे में वापी से भिवंडी ओर भिवंडी से पुनः वापी का सफर कैसे मुमकिन हुआ? क्या जैसे दमण से वापी में तस्करी होकर शराब आती है ओर प्रशासन को पता ही नहीं चलता वैसे ही भिवंडी ओर मुंबई से कोरोना आने पर प्रशासन को पता ही नहीं चला? यह सवाल इस लिए भी क्यो भी अभी कुछ दिनों पहले भी ( Covid-19 ) कोरोना पॉज़िटिव का एक मामला वापी के बलिठा से सामने आया था उक्त मामले के बारे में बताया गया था कि उक्त व्यक्ति मुंबई से आया था। गुजरात के पास स्थित ( DNH ) दादरा नगर हवेली ( Silvassa ) में भी अभी कुछ दिनों पहले जो कोरोना पॉज़िटिव मामला आया था उसके बारे में भी यही बायता गया कि वह भी मुंबई से ही आया। अब सवाल यह है कि ऐसी नाका-बंदी ओर पुलिस के कड़े बंदोबस्त में बार बार केसे लोग भिवंडी, मुंबई ओर अन्य शहरों से वापी आ रहे है ओर आने के बाद भी प्रशासन को जानकारी क्यों नहीं मिलती है? सवाल यह भी है कि ऐसे कितने ओर लोग है जो वलसाड जिले से बाहर जा रहे है ओर पुनः वलसाड जिले में आ रहे है? ( Valsad ) वलसाड जिला प्रशासन को चाहिए कि वलसाड जिले में, जिले से बाहर से आए व्यक्ति को उसका ( Covid-19 ) टेस्ट करने के बाद ही उसे जिले में प्रवेश कि अनुमति दे साथ ही जिले के बाहर से आने वाले सभी मार्गों पर ओर कड़े बंदोबस्त करने कि जरूरत है। इसके आलवे जनता को भी चाहिए कि वह भी इस संकट कि घड़ी में प्रशासन का साथ दे ओर यदि कोई ऐसा व्यक्ति उनकी नजर एवं जानकारी में आए जो जिले से बाहर जाकर आया है तो ऐसे मामले कि जानकारी जल्द से जल्द प्रशासन को देनी चाहिए ताकि प्रशासन उक्त व्यक्ति का कोविड-19 टेस्ट कर सके।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here