वापी जीआईडीसी पुलिस स्टेशन में 2017 में गुनाह धटे

वापी जीआईडीसी पुलिस स्टेशन में 2017 में गुनाह धटे | Kranti Bhaskar
वापी जीआईडीसी पुलिस स्टेशन पिछले कई वर्षों ज्यादा गुनाहों को लेकर कटघरे में आती रही है क्योंकि वापी एक उधोग नगरी है जिसमे कई प्रकार चोरी, लूट , अकस्मात , दारू ( प्रोहिबिशन)की वारदातें होती रहती है लेकिन 2016 वर्ष में जीआईडीसी विस्तार में अधिक वारदाते हुई थी लेकिन कानून के कड़े नियम को लेकर 2017 में प्रोहिबिशन के गुनाह में भी कमी हुई है उसके साथ ही अन्य गुनाहो में भी जीआईडीसी पुलिस स्टेशन धटोतरी हुई है गुनाह को लेकर वापी जीआईडीसी पुलिस स्टेशन के पी.आई एस.जे बारिया के साथ बातचित करने पर बताया कि अभी ठंडी का मौसम होने से चोरी के गुनाह अधिक होते है उसके लिए वापी जीआईडीसी पुलिस स्टेशन द्वारा रात को 12 बजे लेकर सुबह 6 बजे तक पेट्रोलिंग की जाती है उसके साथ काननू कड़े नियम को लेकर हर वर्ष गुनाहों में कमी हो रही है यह बात से सभी सहमत है
उल्लेखनीय है कि कागजो पर तो गुनाह में कमी हो रही है लेकिन हकीकत नजारा कुछ अलग ही है कई मामलों में पुलिस स्वयं ही मामलों रफादफा कर देती ओर के मामले पुलिस शिकायत दर्ज ही नही करती है और गुनाह कम होने की बात कर रहे है लेकिन कितनी अर्जीयो का निकाल किया गया है इसके बारे में आप ब्यौरा दे क्योकि कई मामलों में पुलिस लोगों की अर्जी लेकर रख देती है और उसका कोई निकाल नही करती है और लोगों धक्के खिलावाते रहते है जिससे लेकर एक बात तो साफ है कि सिर्फ कागजो पर गुनाह कम हो रहे है दूसरे तरफ गुनाह बढ़ते ही जा रहे है