विश्वकर्मा मंदिर में किया यज्ञ

जोधपुर। बाईजी का तालाब स्थित श्री विश्वकर्मा मंदिर में शनि अमावस्या को हवन-यज्ञ का आयोजन हुआ।

मंदिर के सांस्कृतिक मंत्री पंकज जायलवाल ने बताया कि मंदिर में हर अमावस्या को सुबह आठ बजे से मंदिर के अध्यक्ष रामेश्वरलाल हर्षवाल, मंदिर समिति के सदस्यों की मेजबानी में पंडित वीरेंद्र जांगिड़ द्वारा यह आयोजन होता है जिसमें अमावस्या का अवकाश होने के कारण अनेक समाज बंधु इस आयोजन में शामिल होते हैं। हवन का महत्व बताते हुए पंडित वीरेंद्र जांगिड़ ने बताया कि हवन कुंड में अग्नि के माध्यम से ईश्वर की उपासना करने की प्रक्रिया को हवन/यज्ञ कहते हैं। हवन में लकड़ी और औषधीय जड़ी बूटियों के मिश्रण से तैयार हवन सामग्री को अग्नि में जलाने से होने वाले धुएं से वातावरण शुद्ध होता है और हानिकारक जीवाणु नष्ट हो जाते हैं, जिसका असर 30 दिन तक रहता है। इसलिए हर अमावस्या को स्वास्थ्य एवं समृद्धि के लिए मंदिर में हवन/यज्ञ किया जाता है। इस आयोजन में मंदिर के सचिव रामदयाल धामू, कोषाध्यक्ष गणपतलाल जायलवाल, सहसचिव भेराराम आसदेव सहित संतोष कुमार छङिया, रामस्वरूप जायलवाल सहित अनेक समाज बंधु उपस्थित हुए। मंदिर सेवक घनश्याम वैष्णव द्वारा आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote