RTI कैसे करें? यह है RTI करने का आसान तरीका।

सूचना का अधिकार 2005, यह कानून हमारे देश मे 2005 मे लागू हुआ और इस कानून के तहत आप सरकार और किसी भी विभाग से सूचना मांग सकते है। आरटीआई (RTI) से आप सरकार से कोई भी सवाल पूछ कर सूचना ले सकते है, किसी भी दस्तावेज़ की जांच कर सकते है, दस्तावेज़ या Document की प्रमाणित Copy प्राप्त कर सकते है, सरकारी काम काज मे इस्तमल सामग्री का नमूना ले सकते है, किसी भी कामकाज का निरीक्षण कर सकते है, कुल मिलकर देखा जाए तो सरकार क्या काम कर रही है और सरकार ने क्या काम किया है इसकी जानकारी आप सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त कर सकते है। आरटीआई के लिए शुल्क मात्र 10 रुपए हैं बीपीएल परिवारों के लिए यह निशुल्क है लेकिन बीपीएल से संबन्धित दस्तावेज़ आवेदन के साथ जोड़ने होंगे।

सूचना प्राप्त करने के लिए आवेदन करने से पहले आपको यह जानकारी भी होनी चाहिए या प्राप्त करनी चाहिए कि आप सूचना के अधिकार के तहत जो जानकारी प्राप्त करना चाहते है वह जानकारी किस विभाग से संबन्धित है तथा किस विभाग से उपलब्ध हो सकती है, यह इस लिए ताकि आप सूचना के अधिकार के तहत अपना आवेदन उसी विभाग को प्रस्तुत कर सके जिस विभाग के पास आपके द्वारा मांगी गई सूचना है। यदि आप सूचना के अधिकारी कानून के विषयमै अधिक जाकारी चाहते है तो (RTI Act ) सूचना के अधिकारी 2005 के तहत किए जाने वाले आवेदन के संबंध में यदि आप कोई सवाल करना चाहते है तो नीचे दिए कमेन्ट बॉक्स में सवाल कर सकते है।

RTI Application Form

सूचना के अधिकार 2005 कानून कि कुछ महत्वपूर्ण धाराएँ

  • धारा 6 (1) – आरटीआई का application लिखने का धारा है।
  • धारा 6 (3) – अगर आप की application गलत विभाग मे चली गयी है तो गलत विभाग इस को 6 (3) धारा के अंतर्गत सही विभाग मे 5 दिन के अंदर भेज दिया जाएगा।
  • धारा 7(5) – इस धारा के अनुसार BPL कार्ड वालों को कोई आरटीआई शुल्क नही देना होता है।
  • धारा 7 (6) – इस धारा के अनुसार अगर आरटीआई का जवाब 30 दिन मे नही आता है तो सूचना फ्री मे दी जाएगी।
  • धारा 18 – अगर कोई अधिकारी जवाब नही देता तो उस की शिकायत सूचना अधिकारी को दी जाए।
  • धारा 19 (1) – अगर आप की आरटीआई का जवाब 30 दिन मे नही आता है तो इस धारा के अनुसार आप प्रथम अपील अधिकारी को प्रथम अपील कर सकते है।
  • धारा 19 (3) – अगर आप की प्रथम अपील का भी जवाब नही आता है तो आप इस धारा की मदद से 90 दिन के अंदर 2nd अपील अधिकारी को अपील कर सकते है।

यदि आपको सूचना के अधिकार 2005 कानून के विषय में और अधिक जानकारी चाहिए तो (RTI Act ) आप नीचे दिए कमेन्ट बॉक्स में सवाल भी कर सकते है। यदि आपके लिए लेख-सूचना उपयोगी रहा तो इसे अपने साथियों के साथ अवश्य शेयर करें।

Leave your vote

502 points
Upvote Downvote

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of