खामोर में पल्स पोलियों अभियान के तहत दो बूंद जिंदगी की खुराक पिलाई।

????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????

राजस्थान / खामोर। ग्राम पंचायत में पल्स पोलियों अभियान के तहत पोलियो जैसे संक्रामक रोगों से बचाव के लिए जन्म से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जा रही है। जिला स्वास्थ्य समिति भीलवाड़ा द्वारा जिले में कहीं ग्राम पंचायतों में पल्स पोलियो अभियान के तहत पोलियो की खुराक पिलाई जा रही है जिसको लेकर खामोर ग्राम पंचायत में भी पोलियो की खुराक पिलाई जा रही है। कड़ाके की ठंड एवं कोहरे में भी जन्म से 5 वर्ष तक के बच्चों को महिलाएं घरों से बाहर लेकर आ रही है और पोलियो से बचाव के लिए पोलियो की खुराक पिलाई जा रही है। आशा सहयोगिनी गायत्री शर्मा ने बताया कि बूथ नंबर A40 पर पोलियो अभियान के तहत पोलियो खुराख पिलाई जा रही है।पोलियो के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पोलियो एक संक्रामक रोग है जो पोलियो विषाणु से मुख्‍यतः छोटे बच्‍चों में होता है। यह बीमारी बच्‍चें के किसी भी अंग को जिन्‍दगी भर के लिये कमजोर कर देती है। पोलियो लाईलाज है क्‍योंकि इससे लकवापन ठीक नहीं हो सकता है। बचाव ही इस बीमारी का एक मात्र उपाय है।पोलियो एक विषाणु से होता है और इस विषाणु को विज्ञान की भाषा में पाँलीवाइरस के नाम से जाना जाता है। यह एक इस लाइलाज और संक्रामक बीमारी जनक है।आशा सहयोगिनी गायत्री शर्मा ने पोलियो फैलने के कारण एवं तरीके बताते हुए कहा कि मल पदार्थ में पोलियो का वायरस पाया जाता है। ज्‍यादातर वायरस युक्‍त भोजन के सेवन करने से यह रोग होता है। यह वायरस श्‍वास तंत्र से भी शरीर में प्रवेश कर रोग फैलता है।पोलियो बूथ कों बुब्बरो से सुसज्जित किया हुआ है। जिससे बच्चे खुशी से इस दवाई का सेवन करने आ सके।बूथ पर आंगनबाड़ी आशा सहयोगिनी गायत्री शर्मा, कार्यकर्ता छोट्या बानू, एकता जोशी एवं विमला शर्मा पल्स पोलियों की खूराख पीला रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here